महंगाई ने तोड़ा पिछले साल का रिकॉर्ड, खुदरा के बाद थोक दर में इजाफा

खुदरा के बाद थोक महंगाई दर में भी बढ़ोतरी हो गई है। दैनिक जीवन में उपयोग की जाने वाली वस्तुओं और ईंधन, बिजली की कीमतें बढ़ने से फरवरी महीने में थोक महंगाई दर बढ़कर 2.93 फीसदी पर पहुंच गयी। इसने पिछले साल के महंगाई दर का रिकार्ड तोड़ दिया।

नई दिल्ली: खुदरा के बाद थोक महंगाई दर में भी बढ़ोतरी हो गई है। दैनिक जीवन में उपयोग की जाने वाली वस्तुओं और ईंधन, बिजली की कीमतें बढ़ने से फरवरी महीने में थोक महंगाई दर बढ़कर 2.93 फीसदी पर पहुंच गयी। इसने पिछले साल के महंगाई दर का रिकार्ड तोड़ दिया। बृहस्पतिवार को जारी सरकारी आंकड़ों में इसकी जानकारी दी गई।
गौरतलब है कि थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर जनवरी में 2.76 प्रतिशत थी। पिछले साल फरवरी माह में यह 2.74 फीसदी थी।

दाल, अनाज और सब्जियों की महंगाई
महीने दर महीने आधार पर फरवरी में सब्जियों की थोक मंहगाई में भारी बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। फरवरी में सब्जियों की थोक मंहगाई दर -4.21 फीसदी से बढ़कर 6.82 फीसदी पर पहुंच गई है। महीने दर महीने आधार पर फरवरी में अंडा, मांस और मछली की थोक मंहगाई 5.47 फीसदी से बढ़कर 6.76 फीसदी पर आ गई है।

वहीं फरवरी में दालों की थोक मंहगाई दर पिछले महीने के 7.55 फीसदी से बढ़कर 10.88 फीसदी पर पहुंच गई है। जबकि आलू की थोक मंहगाई पिछले महीने के 26.30 से घटकर 23.40 फीसदी और प्याज की थोक मंहगाई दर -65.60 फीसदी से बढ़कर -58 फीसदी पर पहुंच गई है।

खुदरा महंगाई दर में हुआ था इजाफा
फरवरी में खुदरा महंगाई बढ़कर 2.57 फीसदी पर पहुंच गई। जनवरी में यह 1.97 फीसदी थी।औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर जनवरी में घटकर 1.7 फीसदी हो गई थी। एक साल पहले समान महीने में यह 7.5 फीसदी थी।

ये भी पढ़ें…महंगाई की आंच में जला पेरिस,लोगों ने की आगजनी,सरकारी संपत्तियों को पहुंचाया नुकसान