घर में केवल पैरेंट्स नहीं, ग्रैंडपैरेंट्स भी है जरूरी, तभी होती है बच्चों की अच्छी परवरिश

जयपुर: हर घर में बड़ों का होना जरूरी हैं क्योंकि वे हमारे घर की छत नींव की मजबूती होते हैं जो जीवन में आने वाली परेशानियों से बचाव करते हैं।घर के बड़ों की सीख हमारे सुखमय जीवन के लिए बेहद फायदेमंद हैं।  जो हमें अपने घर के बड़ों से जरूर सीखनी चाहिए और ये सीख आपको जीवन के हर मोड़ पर सफलता दिलाने में मदद करती हैं।

* हर किसी को ग्रैंडपैरेंट्स से सीखना चाहिए कि अपनो की गलती को किस तरह माफ कर सकते हैं। गलतियां सभी से होती हैं लेकिन उसे माफ करना सबसे बड़ा बड़प्पन है।गुस्सा तो बच्चों से लेकर बड़े-बुजुर्गों तक सभी को आता है। मगर बुजुर्गो का धैर्य कई बार उस गुस्से को रोक लेता है। इंसान में धैर्य या सब्र का होना बेहद जरूरी होता है। यह परिवार को जोड़े रखता है।

ऐसे करेंगे अपने लैपटॉप की देखभाल तो नहीं छोड़ेगा कभी ये आपका साथ

रिश्ते में कम्यूनिकेशन बेहद जरूरी होता है क्योंकि बातचीत न करना रिश्ते टूटने की वजह बन सकता है। हमेशा एक-दूसरे के टच में रहना ग्रैंडपैरेंट्स से सीखें।बड़े-बुजुर्ग जो भी वादे और कमिटमेंट अपने करीबियों से करते हैं उन्हें हर हाल में पूरा करते हैं। आप भी उनसे यह बात बहुत अच्छे से सीख सकते हैं।

बड़े-बुजुर्गो को दोस्त बनने की कला अच्छे से आती है। दरअसल, उन्हें सामने वाले शख्स को समझने का अच्छा-खासा तजूरबा होता है। वह हर किसी की खुशी के बारे में जानते हैं और पलभर में दोस्त बनकर उसे सोल्व भी कर देते हैं।