ins arihant

नई दिल्ली: एटमी हथियार से लैस पनडुब्बी INS अरिहंत समंदर में अपनी पहली पेट्रोलिंग के बाद सोमवार को वापस देश लौट आया है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरिहंत की टीम का स्वागत करने हुए पनडुब्बी को दुश्मनों के लिए चुनौती बताया। पीएम ने इस दौरान भारतीय सेना की तारीफ करते हुए कहा …

आईएनएस अरिहंत 3500 किलोमीटर दूर तक मार कर सकेगी। पनडुब्बी से पानी के अंदर और पानी की सतह से परमाणु मिसाइलें दागी जा सकती हैं। यह पनडुब्बी के-15 और के-4 मिसाइलों से लैस होगी। के-15 मिसाइल 750 किलोमीटर तक मार कर सकती है, तो के-4 की क्षमता 3500 किलोमीटर दूर तक मार करने की है।