yogi adityanath

प्रदेश में भाजपा सरकार के २ साल पूरे होने पर योगीआदित्य नाथ ने कहा की २ वर्षों में हमारी सरकार ने प्रदेश की तस्वीर को बदलने का काम किया है। उन्होंने कहा की हमारी सरकार ने प्रदेश में सुरक्षा का माहौल बना है। प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद एक भी दंगा नहीं हुआ।

कांग्रेस महासचिव और पूर्वांचल प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने मंगलवार को सीतामढ़ी अतिथि गृह में योगी आदित्यनाथ की सरकार पर बड़ा हमला बोला। मीडिया की तरफ से उठाए गए सवालों का जबाब देते हुए कहा की यूपी में विकास जमीन पर नहीं दिख रहा। मुख्यमंत्री की तरफ से दो साल की उपलब्ध्यिों पर जारी रिपोर्ट कार्ड की जमींनी तस्वीर कुछ और है। यहां विकास केवल प्रचार में दिखता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिला मुख्यालय पर मंगलवार को मेडिकल कॉलेज सहित करीब 2200 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास कर नागरिकों को सौगात देंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी की सुरक्षा के अभेद इंतजाम किये गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए आगरा रेंज के सभी जिलों से अधिकारी व पुलिस बल मंगाया गया है।

प्रदेश सरकार की अक्षमता का इससे बड़ा प्रमाण क्या हो सकता है जहां बोर्ड की हिंदी परीक्षा में दो लाख 63 हजार से अधिक परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। सरकार अपनी पीठ थपथपाते हुए नहीं थकती कि प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा की पढ़ाई में उन्होंने अभूतपूर्व परिवर्तन किया और परिणाम शून्य है। 

योगी आदित्यनाथ सरकार सूबे में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिशों में लगी है। इसके लिए उन्होंने अयोध्‍या को चुना है। दीपावली पर भी अयोध्या देश दुनिया की नजरों में आई थी। वहीं अब सरकार वहां की हवाई पट्टी को एयरपोर्ट के रूप में विकसित करने वाली है। यूपी कैबिनेट ने प्रस्‍ताव को मंजूरी भी दे दी है।

प्रदेश में शराब से हुई मौतों के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्य रूप से समाजवादी पार्टी को दोषी माना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जब भी जहरीली शराब से मौतों का मामला सामने आया तो इसके पीछे सपा के कार्यकर्ताओं का ही नाम आया है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या विवाद को लेकर आज साफ किया कि अयोध्या को लेकर अब कोई विवाद नहीं है। हाईकोर्ट की तीन सदस्यीय पीठ पहले ही मान चुकी है कि विवादित स्थान राम की जन्मभूमि है। जब कोर्ट मान चुका है कि वह स्थान रामजन्म भूमि है तो फिर अब किस बात का विवाद है।