Varanasi

प्रयागराज से गंगा के रास्ते तीन दिवसीय पूर्वांचल दौरे के अन्तिम दिन बुधवार को वाराणसी पहुंची कांग्रेस महासचिव एवं पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी का कार्यकर्ताओं ने फूलों की बारिश के बीच भव्य स्वागत किया। इस दौरान प्रियंका ने भी हाथ उठाकर लोगों का गर्मजोशी से अभिवादन स्वीकार किया।

आशुतोष सिंह वाराणसी। लोकसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। सियासी मैदान सजने लगा है। एक ओर बीजेपी की अगुवाई में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन है तो दूसरी ओर सपा-बसपा की जोड़ी के अलावा कांग्रेस। सियासी मुकाबले के लिए पार्टियां भी जोरशोर से जुटी हुई हैं। हर बार की तरह इस बार भी सियासी रणनीतिकारों की …

जम्मू कश्मीर के बड़गाम में शहीद हुए विशाल पांडेय का शव पंचतत्व में विलीन हो गया। देर रात हरिश्चन्द्र घाट पर उनका अंतिम संस्कार हुआ। शहीद विशाल पांडेय के पिता विजय शंकर पांडेय ने मुखाग्नि दी।

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में दूसरे दिन भी उपद्रव जारी है। छात्रों के दो गुटों के बीच सोमवार को भी जमकर पथराव और मारपीट हुई। उपद्रवियों को संभालने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। घटनाक्रम को देखते हुए लंका के साथ आसपास के थानों की फोर्स को बुलानी पड़ी। फिलहाल कैंपस में तनाव बरकरार है।

काशी हिंदू विश्वविद्यालय स्थित सर सुंदरलाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रो. वीएन मिश्रा ने शुक्रवार को अचानक अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनके इस कदम को लेकर अस्पताल में कई तरह की चर्चाएं हैं। माना जा रहा है कि अस्पताल में हो रहे विकास कार्यों को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय वीएन मिश्रा से असंतुष्ट था।

भारत में क्रिकेट को लेकर लोगों में क्या दीवानगी रहती है, ये हर कोई जानता है। वाराणसी में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। यहां के संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी में क्रिकेट का एक खास मैच देखने को मिला, जिसमें बैट भी था। बॉल भी थी और खिलाड़ी भी। कुछ अलग था तो खिलाड़ियों की वेशभूषा और कमेंट्री का अनोखा अंदाज।

आशुतोष सिंह वाराणसी: काशी में आयोजित 15वां प्रवासी भारतीय सम्मेलन अपनी गहरी छाप छोड़ गया है। दुनिया के कोने-कोने से लोग वाराणसी पहुंचे और अपनी माटी, अपने लोगों के बीच आकर निहाल हो उठे। आर्थिक, राजनीतिक सहित कई मसलों पर गुफ्तगू हुई। कार्यक्रम के जरिए वैश्विक संदेश देने की कोशिश हुई, जिसमें भारत के विश्वगुरु …

प्रियंका गांधी के एक्टिव पॉलिटिक्स में आते ही कांग्रेसी जोश में भर गए हैं। पूर्वांचल के अलग-अलग हिस्सों में कांग्रेसी सड़क पर उतरे और अपने अंदाज में प्रियंका गांधी का इस्तकबाल कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कांग्रेसी ढ़ोल नगाड़े की थाप पर झूमते नजर आए।

बनारस की पहचान सिर्फ घाटों और मंदिरों से नहीं बल्कि यहां की साड़ी से भी है। बनारसी साड़ी का डंका पूरी दुनिया में बजता है। लेकिन पिछले कुछ सालों से रंग-बिरंगी साड़ी बनाने वाले बुनकर खुद बदरंग है। बुनकरों की बदहाली दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोशिश कर रहे हैं।

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दूसरे बड़ा लालपुर स्थित ट्रेड फैसेलिटी सेंटर के बाहर एक अजब नजारा दिखा। अपने बेटे के पाने की हसरत लिए एक बूढ़ी मां पहुंच गई। हाथों में तख्ती लिए ये वृद्धा पीएम नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की गुहार लगा रही थी।