यूएस में 110 Kmph की रफ्तार से बर्फीली तेज हवाएं जारी, 1339 उड़ानें रद्द

अमेरिका के कई इलाकों में तेज चक्रवाती हवाओं से जनजीवन प्रभावित हो गया है। तूफान को “बम साइक्लोन” नाम दिया जा रहा है। मौसम विभाग ने 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की आशंका जताई है। 1339 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। साथ ही सरकारी दफ्तर, स्कूल और बाजार भी बंद कर दिए गए हैं।

फ़ाइल फोटो

वाशिंगटन: अमेरिका के कई इलाकों में तेज चक्रवाती हवाओं से जनजीवन प्रभावित हो गया है। तूफान को “बम साइक्लोन” नाम दिया जा रहा है। मौसम विभाग ने 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की आशंका जताई है। 1339 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। साथ ही सरकारी दफ्तर, स्कूल और बाजार भी बंद कर दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें…भयावह तूफान तितली ने ओडिशा, आंध्र को पार किया, तीन लाख प्रभावित

डेनवर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को भी बंद कर दिया गया है। एयरपोर्ट प्रवक्ता का कहना है कि 1339 फ्लाइट्स रद्द कर दी गई हैं।
लोगों से कहा गया है कि हो सके तो घरों से बाहर ना निकलें। तूफान के कारण न्यू मैक्सिको, विस्कॉन्सिन, मिनेसोटा, डलास (टेक्सास), मिशिगन और आयोवा में भी हालात खराब हैं।

सड़कों पर काफी बर्फबारी हो रही है और तेज हवाएं चल रही हैं। लिहाजा अपनी गाड़ियों की हेडलाइट जलाए रखें। शीशे का वाइपर भी चालू रखें। खरीदारी करने ज्यादा दूर न जाएं। कोलारडो स्टेट पेट्रोल का कहना है कि उनके एक सौनिक डोनाइल ग्रव्स की मौत भी गाड़ी से टकराने के कारण हो गई है।

ये भी पढ़ें…अमेरिका में तूफान ‘माइकल’ ने मचाई तबाही, 17 मरे

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि ये तूफान बम चक्रवात है, जिसे सर्दियों का तूफान भी कहा जाता है। जब बैरोमीटर का दबाव 24 घंटों में 24 मिलीबार गिरता है, तब यह तूफान आता है।

उधर बिजली कंपनी एक्सेल एनर्जी के प्रवक्ता मार्क स्टुट्ज ने कहा कि कम दृश्यता के चलते हमारी सेवाओं पर असर पड़ा है। हालात देखते हुए अभी यह नहीं बताया जा सकता कि कब तक बिजली की बहाली हो पाएगी। उधर, डलास के भी एक लाख लोगों के घरों में भी बिजली नहीं है।

ये भी पढ़ें…थाईलैंड में पाबुक तूफान की दस्तक, लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने की कोशिशें जारी