Astro

Newstrack.com महाशिवरात्रि के मौके पर भोले बाबा की पूजा में वर्जित बातों के बारे में बताने जा रहा है, जिससे बचते हुए शिव भक्त महाकाल को प्रसन्न कर सकते हैं।

भगवान शिव ने पहला विवाह माता सती के साथ किया जो कि प्रजापति दक्ष की पुत्री थीं। पुराणों के अनुसार भगवान ब्रह्मा के मानस पुत्रों में से एक प्रजापति दक्ष कश्मीर घाटी के हिमालय क्षेत्र में रहते थे।

यह विशाल मंदिर अपनी भव्यता के लिए पूरी दुनिया में फेमस है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। मंदिर में भगवान शिव की एक विशाल प्रतिमा है। यहां पर रोज बड़ी संख्या में भक्त आते हैं और भगवान शिव से संबंधी सभी त्योहार बड़ी धूम-धाम से मनाए जाते हैं।

गाड़ी को उत्तर या पूर्व दिशा की ओर भी पार्क कर सकते हैं। पार्किंग के लिए दक्षिण-पश्चिम दिशा से बचना चाहिए। वाहन को उत्तर दिशा की ओर मुंह कर ही पार्क करना चाहिए। 

जातक को  व्यापार में धनागमन का आनंद मिलेगा। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेंगें, धन प्राप्ति सुगम होगी। इस राशि  के जातक किसी से ज्यादा हंसी मजाक ना करें, वह उन्हें महंगा पड़ सकता है। लेकिन स्वयं खुश रहें। पत्नी को खुश रखने का हर संभव प्रयास करेंगे।

7 मार्च इस राशि के जातक भूमि व भवन संबंधी योजना बनाएंगे। जातक के रोजगार में वृद्धि होगी। नौकरी में जिम्मेदारी बढ़ सकती हैं। अर्थ संबंधी कार्यों में सफलता से हर्ष होगा। सुखद भविष्य का स्वप्न साकार होगा।

फेंगशुई के अनुसार, घर के बेडरूम में हमेशा मुस्कुराते हुए चेहरे या फिर बाल गोपाल कृष्णा की तस्वीर लगानी चाहिए। इससे घर में साकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। ऐसे में पूरे घर का माहौल खुशनुमा रहता है।

शिव योग में जो भी धर्म-कर्म मांगलिक अनुष्ठान आदि कार्य करेगा। उसका संकल्पित कार्य कभी भी बाधित नहीं होगा। उसके कार्य का सुपरिणाम कभी निष्फल नहीं रहेगा, इसीलिए इस योग के किये गए शुभकर्मों का फल अक्षुण रहता है।

शनिवार को आर्थिक समस्याओं का समाधान के लिए अच्छा होगा। परिवार के साथ चल रहा मनमुटाव भी दूर करेंगे। खुशखबरी का समाचार मिल सकता है। बिजनेस में दोस्त या पार्टनर से धोखा मिल सकता है।

जानते हैं सफलता के लिए आवश्यक है मेहनत और मेहनत तभी सफल होती है जब हम एकाग्र होकर कोई कार्य करें। ज्योतिष के कुछ ऐसे उपाय जो एकाग्रता बढ़ाने में सहायक होते हैं।