आएगा फूलों का दौर, अब नहीं दिखेगा स्क्रीन पर kiss, love और ये

60- 70 के दशक में फिल्मों में खुलापन कम  था। बेडरुम सीन, किसिंग सीन हो या फिर कोई भी इंटीमेंट सीन  फूल, खुले आसमान और पक्षियों को दिखाया जाता था। धीरे-धीरे फिल्मों में नग्नता बढने लगी। और आज के दौर में सबकुछ ओपन है। लेकिन लगता है एकबार फिर वही दौर आने वाला है।

Published by suman Published: June 6, 2020 | 11:26 am
Modified: June 6, 2020 | 11:10 pm

मुंबई: 60- 70 के दशक में फिल्मों में खुलापन कम  था। बेडरुम सीन, किसिंग सीन हो या फिर कोई भी इंटीमेंट सीन  फूल, खुले आसमान और पक्षियों को दिखाया जाता था। धीरे-धीरे फिल्मों में नग्नता बढने लगी। और आज के दौर में सबकुछ ओपन है। लेकिन लगता है एकबार फिर वही दौर आने वाला है। मतलब ये कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस महामारी से कब तक और कैसे छुटकारा मिलेगा यह कहना तो मुश्किल है, अब इंटरटेंनमेंट वर्ल्ड में कोरोना का कहर खत्म हो जाने के बाद भी उनकी फिल्मों में इंटिमेट सीन नहीं फिल्माए जाएंगे।

 

यह पढ़ें..LAC विवाद सुलझाने को तैयार चीन, भारत से मांगी ये मदद

 

*लॉकडाउन में फिल्मों और शो की शूटिंग बंद हैं। वायरस संक्रमण के बाद फिल्‍में किस तरह बदल जाएंगी और इंटिमेट सीन्‍स कैसे शूट किए जाएंगे? क्योंकि अब कम से कम फिल्मों में तो इंटिमेट सीन नहीं होंगे। एक फिल्म डायरेक्टर का कहना है कि मास्क और ग्लव्स के साथ शूटिंग होगी। शॉट के बाद एक्टर्स को इन्हें फिर से पहनना होगा। सेट्स पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखेंगे। सेट्स पर कम से कम बातचीत होगी। जब तक शॉट के लिए नहीं बुलाया जाएगा, एक्टर्स अपनी वैन में रहेंगे।

*कहा जा रहा है कि एक डायरेक्टर अपनी फिल्म के लिए एक एक्ट्रेस और एक न्यूकमर एक्टर के बीच इंटेंस लव मेकिंग सीन प्लान किया था। हालांकि डायरेक्टर का कहना है कि अब लव मेकिंग सीन नहीं दिखाए जाएंगे। इंसानों की जगह दो फूलों को किस कराने वाले दिन वापस लाने होंगे या फिर कम्प्यूटर ग्राफिक्स से ये सब दिखाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी सब कुछ अनिश्चित है इसलिए इंटिमेसी तो नहीं दिखेगी।

 

यह पढ़ें..इस दिग्गज बल्लेबाज ने धवन का खोला बड़ा राज, BCCI ने दिया ऐसा रिएक्शन

*वहीं कोरोना को देखते हुए फिल्म डायरेक्टर सुधीर मिश्रा का कहना है, फिल्मों की कहानियां भी बदलेंगी! आप वही कहानियां लिख पाएंगे? क्या आप अब किसी को गले लगाएंगे?, यंगस्टर्स प्यार कैसे करेंगे? मैं जब पुरानी फिल्म देखता हूं और वे मिलते हैं, तो मुझे अजीब लगता है कि आगे ऐसा होगा क्या? आप वह अब नहीं कर पाएंगे। आप अब अजनबी से प्यार में नहीं पड़ पाएंगे।’

 

हाल ही में महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि बहुत जल्द राज्य में टीवी और फिल्म की शूटिंग शुरू की जा सकती है। लेकिन इस बीच एक सख्त गाइडलाइन भी जारी की गई है। अब वैसे तो इस गाइलाइन में कई पहलू हैं लेकिन सभी का ध्यान इस बात ने खींचा है कि अब सेट पर किसी को भी हाथ मिलाकर, किस करके या गले लगाकर हैलो करने की मनाही है। ऐसे में किसिंग सीन होने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता।

 

यह पढ़ें..गंजेपन का कोरोना से गहरा नाता, ऐसे पुरुषों में वायरस के संक्रमण का खतरा ज्यादा

आग, कपड़े और फूलों के जरिए रोमांस

बॉलीवुड में हमेशा किसिंग सीन्स के जरिए ही रोमांस को फिल्माया गया हो, ऐसा नहीं हैं।  पहले तक फूलों के जरिए रोमांस दिखाया गया है। किसिंग सीन्स को भी दो फूलों के जरिए दिखा दिया जाता था। लेकिन ये सब होता था दो से तीन दशक पहले जब किसिंग सीन्स को ज्यादा सहज नहीं माना जाता था। लेकिन उस दौर में भी आग, कपड़े और फूलों के जरिए कई तरह की भावनाएं व्यक्त कर दी जाती थीं।  कई पुरानी फिल्मों में भी ऐसी ही तरकीब का इस्तेमाल किया गया था।  इस तरह कोरोना के दौर में अब बॉलीवुड दो से तीन दशक पीछे चला जाएगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App