HOROSCOPE: मंगल का मीन में गोचर जानिए किस राशि पर क्या होगा असर

 

 लखनऊ: वैदिक ज्योतिष में मंगल ग्रह को हानिकारक माना जाता है। मंगल ग्रह अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करता है इसलिए इसे अंगारक (अंगारे जैसा रक्त वर्ण), भौम यानि भूमि पुत्र भी कहा जाता है। मंगल को युद्ध का देवता भी कहा जाता है। मंगल ग्रह शारीरिक ऊर्जा, आत्म विश्वास, अहंकार, क्रोध, वीरता और साहस जैसे गुणों को प्रतिनिधित्व करता है। मंगल के दुष्प्रभाव से रक्त, मांस पेशी और अस्थि जनित रोग होते हैं। मंगल ग्रह शुभत्व का प्रतीक भी है। इस ग्रह की मूलभूत प्रवृत्ति प्रजनन और बड़े बदलाव करना है। मंगल के प्रभाव से प्रत्येक व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक साहस प्राप्त होती है।

20 जनवरी को मंगल मीन राशि में प्रवेश किया है और 2 मार्च तक गोचर करेगा। मंगल के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर देखने को मिलेगा। आईए जानते हैं कि मंगल का यह गोचर आपके लिए कितना मंगलकारी होगा।
आगे जानें  मेष के बारे में…

मेष: मंगल का मीन राशि में होने वाला गोचर मेष राशि के जातकों के लिए शुभ संकेत नहीं दे रहा है। स्वास्थ्य संबंधी परेशानी उत्पन्न हो सकती है। खासकर रक्त जनित रोगों की संभावना दिख रही है। जहां तक हो सके मानसिक तनाव लेने से बचें, बुरे वक्त में भी धैर्य के साथ काम लें। इस दौरान कुछ लोगों को कानूनी विवाद का सामना भी करना पड़ सकता है, हालांकि इस कानूनी लड़ाई में जीत आपकी ही होगी। पर्सनल और प्रोफेशनल कारणों की वजह से इच्छा नहीं होने के बाद भी आपको कुछ यात्राएं करनी पड़ सकती है। विदेशों में अच्छे संपर्क बनेंगे, जो आपके लिए बेहद लाभकारी होंगे। मंगल के गोचर के अंतिम पड़ाव के दौरान आपके भाई को अच्छा लाभ हो सकता है।
उपाय: रोजाना हनुमान जी की आराधना करें।

आगे जानें वृषभ के बारे में…

वृषभ: वृषभ राशि के जातकों के लिए मंगल का मीन राशि में होने वाला गोचर मिले जुले परिणाम लेकर आएगा। आर्थिक मोर्चे पर तरक्की होगी, लेकिन बच्चों की खराब सेहत आपकी चिंताएं बढ़ा सकती है। विदेशी जरियों से कमाई का अवसर मिलेगा। इस दौरान आय का कोई बहुत बड़ा साधन आपके हाथ लग सकता है, हालांकि ज्यादा से ज्यादा बचत करना आपके लिए लाभकारी रहेगा। आप कोई नई बीमा पॉलिसी भी खरीद सकते हैं। जीवन साथी या प्रोफेशनल पार्टनर के जरिए आपको लाभ प्राप्त हो सकता है। वहीं दूसरी ओर संतान पक्ष की सेहत से आप परेशान रहेंगे। इस दौरान आपके बच्चों की सेहत गड़बड़ा सकती है, बेचैनी बढ़ने की वजह से उनके व्यवहार में पल-पल परिवर्तन देखने को मिलेगा। वे बच्चे जो जल्द ही गुस्सा हो जाते हैं । उनके स्वभाव की वजह से घर का माहौल प्रभावित हो सकता है। यह समय आपके लिए चुनौतीपूर्ण होगा, इसलिए बच्चों को समय दें और उनकी बातों को ध्यान से सुनें।
उपाय: मंगलवार को रक्त दान करना अच्छा होगा।

आगे जानें मिथुन के बारे में…

मिथुन: मिथुन राशि के जातकों को मंगल के मीन राशि में होने वाले गोचर से नौकरी और व्यवसाय में सफलता व उन्नति मिलेगी, हालांकि इस दौरान पारिवारिक जीवन में उथल-पुथल मची रहेगी। नौकरी पेशा लोगों के अधिकारों में वृद्धि होगी और वे नई ऊंचाइयों को प्राप्त करेंगे। मंगल के प्रभाव से आपका स्वभाव अनुशासनात्मक और प्रभावशाली रहेगा और इसका असर कामकाज में देखने को मिलेगा। कार्य स्थल पर आपके काम को सराहा जाएगा और उससे आपको लाभ मिलेगा। पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में संतुलन बनाए रखें और दोनों जगहों पर क्रोध पर नियंत्रण रखने की कोशिश करें। ऐसा नहीं करने पर आपके रिश्तों में कड़वाहट आ सकती है। मंगल के इस गोचर के दौरान बच्चों की सेहत प्रभावित रह सकती है।
उपाय: गाय को हरी घास खिलाएं। मंगलवार को गुड़ और दाल का दान करें।

आगे जानें  कर्क के बारे में…

कर्क: मंगल का मीन राशि में होने वाला गोचर कर्क राशि के जातकों के लिए ढेर सारी सौगातें लेकर आने वाला है। क्योंकि इस गोचर के दौरान भाग्य पूरी तरह से कर्क राशि वालों के पक्ष में रहेगा। खासकर वे छात्र जो उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं उनकी मुराद पूरी होगी। लंबी दूरी की यात्रा की संभावना भी नज़र आ रही है। भविष्य में होने वाले आर्थिक नुकसान से बचने के लिए खर्चों पर नियंत्रण रखें। मंगल के गोचर के फलस्वरूप आपकी माता जी की सेहत प्रभावित हो सकती है इसलिए उनके स्वास्थ्य का खास ख्याल रखें। संतान पक्ष की ओर से आपको खुशी मिलेगी। क्योंकि इस दौरान वे अपने क्षेत्र में बेहतर करेंगे, चाहे शिक्षा हो या व्यवसाय। भाई-बहनों के साथ रिश्तों में थोड़ी कड़वाहट आ सकती है।
उपाय: हनुमान जी की आराधना करें।

आगे जानें सिंह के बारे में…

सिंह: मंगल के मीन राशि में होने वाले गोचर से जहां एक ओर सिंह राशि के जातकों को तगड़ा आर्थिक लाभ मिलेगा, वहीं दूसरी ओर सेहत से जुड़ी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान सिंह राशि के जातक और उनके पिता का स्वास्थ्य गड़बड़ा सकता है। इनमें खून से जुड़ी बीमारी की संभावना है। इसके अलावा सड़क दुर्घटना में चोटिल भी हो सकते हैं, लिहाजा वाहन सावधानी से चलाएं। ससुराल पक्ष से कुछ मुद्दों पर मतभेद पैदा हो सकते हैं। निराशा के बीच आपको अचानक कोई बड़ा आर्थिक लाभ हो सकता है।
उपाय: सूर्य देव को जल चढ़ाएं।

आगे जानें कन्या के बारे में…

कन्या: मंगल का मीन राशि में होने वाला गोचर कन्या राशि के जातकों की परेशानी बड़ा सकता है। क्योंकि इस दौरान आपके व्यवहार में क्रोध व उत्तेजना बढ़ेगी। ग़लतफहमी और मतभेद होने से वैवाहिक जीवन भी प्रभावित होगा। जीवन साथी की सेहत का ख्याल रखने की जरुरत है। बात अगर करियर और प्रोफेशनल लाइफ की करें तो दोनों क्षेत्रों में तरक्की होगी। नौकरी पेशा लोगों की आमदनी बढ़ेगी। मंगल का यह गोचर आपके भाई-बहनों के लिए लाभकारी रहेगा और वे इस समय का बेहतर उपयोग करेंगे।
उपाय: हर शुक्रवार को लक्ष्मी जी को लाल फूल चढ़ाएं।
आगे जानें तुला के बारे में…

तुला: मंगल का गोचर तुला राशि के जातकों के लिए आर्थिक नुकसान की ओर इशारा कर रहा है। इस गोचर के फलस्वरूप तुला राशि के लोगों को किसी बड़े आर्थिक संकट का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि अच्छी बात यह है कि ग्रहों की चाल की वजह से आप इस समय में कठिन परिश्रम और पूरे समर्पण के साथ अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेंगे। इच्छा के विरुद्ध की गई यात्रा से आपको निराशा हाथ लगेगी। मंगल के गोचर के दौरान दुर्घटना में चोटिल होने के संकेत भी मिल रहे हैं इसलिए वाहन चलाते समय सावधानी बरतें। 29 जनवरी के बाद जीवन साथी की सेहत बिगड़ने से आपकी चिंता बढ़ सकती है। वे जातक जिनकी बिजनेस में पार्टनरशिप है उनका अपने साथी के साथ टकराव हो सकता है। हालांकि आप अपने विरोधियों और प्रतिद्वंदियों पर हावी रहेंगे। लक्ष्यों का निर्धारण करने से व्यवसाय में सफलता मिलेगी। मन में नए विचारों आने पर स्वयं पहल करें। क्योंकि ये कोशिशें आपको बहुत आगे लेकर जाएगी।
उपाय: हर शुक्रवार को मिठाई व मीठे व्यंजन बालिकाओं को दें।
आगे जानें वृश्चिक के बारे में…

वृश्चिक: मंगल के गोचर के प्रभाव से वृश्चिक राशि के जातकों का झुकाव शैक्षाणिक पेशे की ओर बढ़ेगा। इस गोचर के दौरान आपके बच्चों की सेहत बुरा असर पड़ सकता है, लिहाजा उनका ध्यान रखें। इस गोचर के फलस्वरूप बच्चे ज्यादा शरारती और उपद्रवी होंगे। वहीं ग़लतफ़हमी की वजह से आपके प्रेम संबंध प्रभावित होंगे। आर्थिक समृद्धता आने से आप बहुत खुश होंगे। इस समय में आप नए लक्ष्यों का निर्धारण करेंगे और एक नई यात्रा की शुरुआत करेंगे। यदि आप पर कोई देनदारी या लोन बाकी है तो इस अवधि में उसका निपटारा हो जाएगा।
उपाय: घर के बाहर गार्डन में या मंदिर के पास अनार का वृक्ष लगाएं।

आगे जानें धनु के बारे में…

धनु: मंगल का मीन राशि में होने वाला गोचर धनु राशि के जातकों के पारिवारिक जीवन में तनाव पैदा करेगा। लिहाजा घरेलू मोर्चे पर धैर्य और संयम के साथ काम लें। परिवार में होने वाले टकराव और विचारों में असहमति पैदा होेने पर हालात को अच्छे से संभालने की कोशिश करें। इस दौरान आपका वैवाहिक जीवन भी कुछ समय के लिए प्रभावित रहेगा। पारिवारिक जीवन में तनाव और चुनौती के बीच प्रोफेशनल लाइफ में आपको कामयाबी मिलने के योग बन रहे हैं। नौकरी और व्यवसाय में सफलता व तरक्की होने से आपका मनोबल बढ़ेगा। आमदनी में बढ़ोतरी होगी साथ ही विदेशी जरियों से अप्रत्याशित लाभ होने के योग बन रहे हैं। मंगल के गोचर के दौरान एकाग्रता और ध्यान भंग होने से जीवन में तनाव बढ़ेगा। प्राणायाम और योग करने से आप स्वस्थ रहेंगे व मानसिक शांति प्राप्त होगी। मंगल के गोचर के दौरान धनु राशि के जातक घरेलू और भौतिक सुख-सुविधाओं से जुड़े सामानों पर खर्च कर सकते हैं।
उपाय: गाय को रोजाना गेहूं खिलाएं।
आगे जानें मकर के बारे में…

मकर: मंगल का मीन राशि होने वाला गोचर मकर राशि के जातकों के मनोबल में वृद्धि करेगा। इसके फलस्वरूप आप शिक्षा और कामकाज की दिशा में लक्ष्यों का निर्धारण कर आगे बढ़ेंगे। मंगल के प्रभाव से आपके अंदर नई ऊर्जा और उत्साह का संचार होगा। आप स्वयं को बेहद ऊर्जावान महसूस करेंगे। पहले से तय किए स्थानों की यात्रा करेंगे। इसके अलावा आप विरोधियों और प्रतिद्वंदियों पर हावी रहेंगे। मंगल का यह गोचर आपके भाई-बहनों के लिए लाभकारी सिद्ध नहीं होगा। कार्य स्थल पर आपकी कड़ी मेहनत, लगन और समर्पण की वजह से आपकी प्रशंसा होगी। पुरानी देनदारी और लोन चुकाने के लिए यह समय आपके पक्ष में रहेगा।
उपाय: नियमित रूप से शनि देव की आराधना करें।

आगे जानें  कुंभ के बारे में…

कुंभ: मंगल के गोचर के प्रभाव से कुंभ राशि के जातकों का पारिवारिक जीवन प्रभावित होगा। परिवार के सदस्यों में कुछ मतभेद होने से तनाव पैदा होगा। आर्थिक मोर्चे पर आपको कामयाबी मिलेगी। भाई-बहनों की मदद से या उनके जरिये आपको लाभ प्राप्त होगा। इससे जीवन में आर्थिक समृद्धता आएगी। इसके अलावा किसी नजदीकी व्यक्ति से आर्थिक मदद मिलने की संभावना दिखाई दे रही है। मंगल के गोचर के दौरान आपके बच्चों के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है और यह समय उनके लिए अच्छा साबित नहीं होगा। छात्रों को परीक्षाओं में अप्रत्याशित नतीजे मिलने के पूरे योग बन रहे हैं, हालांकि अगर आपने थोड़ी मेहनत और की तो परिणाम और भी बेहतर होंगे। मंगल के प्रभाव से लक्ष्य प्राप्ति के लिए आप सतत प्रयास करते रहेंगे और इसमें कोई कमी नहीं आएगी।
उपाय: मां दुर्गा की आराधना करें।

आगे जानें मीन के बारे में…

मीन: मंगल का गोचर आपकी राशि में हो रहा है। इस गोचर के प्रभाव से मीन राशि के जातकों के स्वभाव में चिड़चिड़ापन आएगा। इसके परिणामस्वरूप आप बात-बात पर विवाद करने लगेंगे। इस दौरान कामुक विचारों में वृद्धि होगी और यौन संबंधों की ओर आपका झुकाव बढ़ेगा। जीवन साथी और परिवार के लोगों के साथ मतभदे होंगे, इसलिए अपने क्रोधी स्वभाव पर नियंत्रण रखें और हर समस्या का शांति के साथ हल निकालने की कोशिश करें। हालांकि हालात ऐसे पैदा होंगे कि आपको अचानक गुस्सा आ जाएगा लेकिन फिर भी धैर्य बनाए रखें। गोचर के दौरान भाग्य आपका पूरा साथ देगा। गोचर के अंतिम पड़ाव के दौरान प्रोफेशनल लाइफ बेहद बेहतर रहेगी।