बुध का वृष राशि में गोचर, जानिए किसकी किस्मत का खुलेगा ताला

Published by suman Published: June 6, 2017 | 12:10 pm

लखनऊ: 3 जून 2017 की रत  8 बजकर 1 मिनट से  बुध ग्रह का वृष राशि में गोचर हो चुका है। राशियों पर यह क्या प्रभाव डालेगा और आने वाले दिनों में आपके लिए किस प्रकार की चुनौतियां आएंगी यह हम यहां आपको आगे बता रहे हैं।

आगे..

मेष: इस गोचर के दौरान बुध आपकी राशि के दूसरे भाव में होगा जो आपकी वाक क्षमता और व्यावहारिकता को प्रभावशाली बनाएगा। लेकिन वाणी में कठोरता इस दौरान आपके लिए घातक भी साबित हो सकती है। इसलिए बेहतर होगा कोई भी काम सावधानी से करें और क्रोध से बचें। कुछ भी कहने से पहले अच्छी प्रकार विचार कर लें।

आगे..

यह भी पढ़ें….भगवान शिव का नहीं बनाना है कोपभाजन तो इन कामों को करने से सदैव बचें

वृष : भाई-बहनों से संबंशों में मधुरता आएगी और आर्थिक लाभ भी होंगे। ब्राह्मण या किसी जरूरतमंद को घी दान करना अनावश्यक परेशानियों से आपको बचा सकता है।

आगे..

मिथुन: अपने इस गोचर के दौरान बुध आपकी राशि के 12वें भाव में विचरण करेगा जो आपके स्वास्थ्य को बुरा प्रभावित कर सकता है। मानसिक तनाव बढ़ेगा और अनावश्यक खर्चे आएंगे। आर्थिक स्थिति ठीक रहेगी, नया घर या वाहन खरीदने के संयोग बन सकते हैं। अपने घर के पूजा स्थल पर बुध यंत्र की स्थापना करना आपके लिए लाभप्रद रहेगा।

आगे..

कर्क: आपकी राशि के 11वें भाव में बुध का गोचर होने के कारण आपके लिए यह मिलेजुले परिणामों का समय रहेगा। विदेश यात्रा से लाभ मिल सकता है। प्रेम संबंधों  में कुछ विवाद के कारण बन सकते हैं।

आगे..

 

यह भी पढ़ें….6 जून मंगलवार को कैसा रहेगा दिन, बताएगा आपका राशिफल

सिंह: बुध आपकी राशि के दसवें भाव में गोचर कर रहा है जो आपके लिए लाभकारी रहेगा। अपनी बुद्धि और ज्ञान से आपको कार्यक्षेत्र में विशेष पहचान मिलेगी। अधिकारीजनों से संबंधों में सुधार होगा और तरक्की के रास्ते बनेंगे। आपके लिए बुध के बीज मंत्र का जाप करना लाभप्रद होगा।

आगे..

कन्या: बुध अपने इस गोचर के दौरान आपकी राशि के नौवें भाव में होगा। यह आपके मान-सम्मान में वृद्धि करेगा और आर्थिक परेशानियां भी दूर करेगा। आपको भाग्य का पूरा साथ मिलेगा लेकिन संभव है आप इस समय नौकरे में बदलाव का मन बनाएं या नौकरे बदलें। यह पैसा और प्रसिद्धि देने वाला समय है। बुधवार को पन्ना धारण करना आपके लिए विशेष फलदायी रहेगा।

आगे..

तुला: इस दौरान बुध आपका राशि के आठवें भाव में होगा। इससे अचानक हानि की स्थितियां आएंगी विवादों और कानूनी मामलों में आपको सफलता मिलेगी और धन लाभ भी हो सकता है। धर्म और तांत्रिक उपायों जैसी चीजों में आपको जिज्ञासा पैदा होगी। नई चीजें सीखना आपके लिए लाभप्रद रहेगा। परेशानियों से बचने के लिए श्री विष्णुम सहस्त्रधनाम स्त्रोत का पाठ नियमित रूप से करें।

आगे..

वृश्चिक: बुध इस गोचर के दौरान आपकी राशि से सातवें भाव में होगा। इस दौरान जहां कुछ न संबंध बनेंगे, पुराने संबंधों विशेषकर जीवंसाथी के साथ गलतफहमियां पैदा हो सकती हैं। क्रोध आपका बना बनाया काम भी बिगाड़ सकता है इसलिए क्रोध से बचें।

आगे..

धनु: राशि के छठे भाव में बुध का गोचर होने के कारण आपके लिए यह समय कई प्रकार के विवादों का सामना करने वाला होगा। फिजूलखर्च बढ़ेगा और जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है। नौकरी और कॅरियर के लिए हालांकि यह सामान्य समय होगा, संभव है इसमें आपको लाभ और तरक्की भी मिले। किन्नरों का आशीर्वाद लेना आपकी परेशानियां कम करेगा।

आगे..

मकर: इस गोचर के दौरान बुध आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेगा। यह आपकी बुधि और वाणी को प्रभावशाली बनाएगा। आपका ज्ञान बढ़ेगा। अगर उच्च शिक्षा पाने के लिए प्रयास कर रहे हैं तो यह सफल होगा। प्रतियोगिता परीक्षाओं में सफलता मिल सकती है। परिवार में खुशहाली रहेगी। श्री विष्णुै सहस्त्रोनाम स्तोगत्र का पाठ आपकी अनचाही परेशानियां कम कर सकता है।

आगे..

कुंभ: इस गोचर के दौरान बुध आपकी राशि से चौथे भाव में होगा और कई प्रकार की लाभदायक स्थितियां देगा। लेकिन यह दुर्घटना की संभावनाएं भे बना रहा है इसलिए गाड़ी चलाते हुए विशेष ध्यान रखें। अचानक धन लाभ या वाद-विवाद में सफलता मिल सकती है। माता की सेहत खराब हो सकती है और कार्यक्षेत्र में भी मनमुटाव और हानि हो सकती है। बहन या मासी को खुश करें और उपहार दें।

आगे..

मीन: आपकी राशि के तीसरे भाव में बुध का गोचर होने के कारण आपको कॅरियर और व्यापार में लाभ या तरक्की मिल सकती है। आपके प्रयास आसानी से सफलता प्राप्त करेंगे। यात्रा के संयोग बन सकते हैं। माता-पिता का स्वास्थ्य खराब हो सकता है इसलिए उनका विशेष ध्यान रखें। गाय को गुड़ खिलाना आपकी विपरीत परिस्थितियों में सुधार लाएगा।