Astro

हिंदू धर्मावलंबी सावन मास को सभी मासों में पवित्र मास मानते है। इस माह में शिव-पार्वती के पूजन का विधान है। वैसे तो इनका पूजन हर मास में किया जाता है, लेकिन सावन में पूजा करने से विशेष फल मिलता है।

माह सावन पक्ष-कृष्ण, तिथि- चतुर्थी, दिन बृहस्पतिवार, नक्षत्र-., सूर्योदय- 5.14, सूर्यास्त-18.52। दिन बृहस्पतिवार को जानिए 12 राशियों के राशिफल।

मनुष्य के  जीवन में जब आर्थिक परेशानियां आने लगती हैं और धन का नुकसान होने लगता हैं। तो व्यक्ति अपनी सुधबुध तक खो देता है, लेकिन इसके लिए मनुष्य खुद जिम्मेवार होता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार ऐसा कुछ चीजों की वजह से होता हैं जो अपनी नकारात्मक ऊर्जा से धन को पास नहीं आने देती हैं।

ज्योतिष के अनुसार 360 अंश का राशि-चक्र है जो 12 भावों में बंटा है।  कुंडली में पहला भाव लग्न भाव होता है उसके बाद शेष 11 भावों का अनुक्रम आता है।

जयपुर माह सावन पक्ष-कृष्ण, तिथि-तृतीया दिन बुधवार, नक्षत्र-धनिष्ठा, सूर्योदय- 5.30, सूर्यास्त-19.10। दिन बुधवार को जानिए 12 राशियों के राशिफल।

कहते हैं कि सृष्टि का निर्माण भगवान शिव ने किया है और उनकी इच्छा से ही सृष्टि चलती है। जो भी सच्चे दिल से भगवान शिव की भक्ति करता है। उसकी सब मनोकामनाएं भोलो बाबा पूरी कर देते हैं। शिवपुराण के अनुसार, अगर नियमित रूप से शिवलिंग का पूजन  किया जाय

सावन का महीना शुरू हो चुका है। सावन माह भगवान शंकर अति प्रिय महीना है। इस महीने  में की गई अराधना से भगवान शंकर बेहद ही प्रसन्न होते हैं। इस दौरान जो भी मांगा जाए, वह भगवान शंकर देते हैं। हम आपको एक खास बात यहां बताना चाहते हैं कि कुछ महिलाएं और पुरुष जब मंदिर में जाते हैं

जयपुर माह सावन पक्ष-कृष्ण, तिथि- द्वितीया दिन मंगलवार, नक्षत्र- श्रवण – 11:56 PM तक सूर्योदय- 5.30, सूर्यास्त-19.10। दिन मंगलवार को जानिए 12 राशियों के राशिफल.

माह सावन पक्ष-कृष्ण, तिथि- प्रतिपदा दिन सोमवार, नक्षत्र- उ.षा., सूर्योदय- 5.30, सूर्यास्त-19.10। दिन सोमवार को जानिए 12 राशियों के राशिफल..

सावन माह को पूरे 12 मास में सबसे पवित्र मास माना जाता है। इस मास का प्रत्येक दिन पवित्र होता है। और हर दिन भगवान की आराधना के लिए उपयुक्त होता है। इस मास शिव पार्वती के साथ कृष्ण की पूजा भी की जाती है।