जानिए 12 राशियों के भविष्य पर क्या होगा असर, सूर्य का वृषभ राशि में हुआ गोचर


पं. सागरजी महाराज
पं. सागरजी महाराज

लखनऊ: सूर्य को नवग्रहों के राजा की उपाधि दी गई है। प्राणी जगत के लिए यह ऊर्जा का केन्द्र है, इसलिए सूर्य को जगत की आत्मा कहा गया है। प्रत्येक जातक की कुंडली में सूर्य उनके पिता का प्रतिनिधित्व करता है इसलिए यह पितृ कारक भी होता है। रविवार से  सूर्य मेष राशि से वृषभ राशि में प्रवेश कर चूका है और 15 जून 2017  को  वृषभ राशि से मिथुन राशि में गोचर करेगा। निश्चित ही सूर्य के इस गोचर का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ेगा।जानते हैं इस राशिफल के माध्यम से सूर्य के इस गोचर का आप पर होने वाला प्रभाव।

आगे…

मेष: सूर्य आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेगा, जिसके परिणाम स्वरूप आपकी वाणी में कटुता आ सकती है। आप किसी को अपमानित कर सकते हैं, जो घर में अथवा बाहर झगड़े का कारण बन सकता है। छात्रों के लिए यह गोचर बढ़िया रहने वाला है। उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर परिणाम मिलेंगे। यदि जातक शादीशुदा हैं तो जीवन साथी के स्वास्थ्य का ख़्याल अवश्य रखें, क्योंकि उनकी सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है। कुल मिलाकर सूर्य की कृपा दृष्टि आप पर बरसेगी और परिस्थितियाँ आपके अनुकूल होंगी।
उपायः तांबे का कड़ा अपने दाहिने हाथ में पहनें।
आगे…

 

वृषभ: गोचर के दौरान सूर्य ग्रह आपकी राशि में ही गोचर करेगा। सूर्य के इस संचरण का सबसे अधिक प्रभाव आप पर पड़ेगा। जैसे- आपके व्यवहार में आक्रामकता एवं अहंकार देखने को मिल सकता है। यदि आप शादीशुदा हैं तो यह स्वभाव आपके जीवन साथी के व्यक्तित्व में भी नज़र आ सकता है। वैवाहिक जीवन थोड़ा अव्यवस्थित रह सकता है। ऐसे में आपको तालमेल बनाने की आवश्यकता होगी। कार्य क्षेत्र में जीवन साथी को प्रमोशन अथवा उनकी आय में वृद्धि होने की संभावना दिखाई दे रही है। कार्य के दौरान आप सहज भाव रखेंगे, जिसका परिणाम आपके लिए अच्छा होगा।
उपायः माँ लक्ष्मी जी की आराधना करें और उन्हें शुक्रवार के दिन लाल पुष्प चढ़ाएँ।

आगे…

 

मिथुन: पितृ कारक सूर्य ग्रह आपकी राशि से बाहरवे भाव में संचरण करेगा, इसके फलस्वरूप आपके विदेश यात्रा पर जाने के योग हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह गोचर शुभ संकेत नहीं दे रहा है। आप अपने शत्रुओं पर हावी रह सकते हैं। धन का व्यय कुछ अधिक होगा, ऐसे में आपको सोच-समझकर पैसे ख़र्च करने होंगे। कोर्ट -कचहरी के मामलों में फ़ैसला आपके हक़ में आ सकता है। भाई-बहन को उनके करियर में सही दिशा मिलेगी। गोचर के दौरान आप किसी जंगल अथवा पहाड़ों की यात्रा का लुत्फ़ उठा सकते हैं। यदि आप शादीशुदा हैं तो जीवन साथी की सेहत का ख़्याल रखिए।
उपायः शनिवार के दिन ज़रुरतमंद मरीज़ों को दवा वितरित करें।

आगे…

 

कर्क: र्य ग्रह आपकी राशि से ग्यारहवे भाव में गोचर करेगा। इसके प्रभाव से आपको जीवन में आगे बढ़ने के कई अवसर मिलेंगे। उच्च आर्थिक लाभ की संभावना बन रही है। बच्चों का ख़्याल रखें, क्योंकि उनकी सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है। वहीं प्रेम जीवन में विपरीत परिस्थिति का सामना करना पड़ सकता है। अहंकार प्रेम संबंध के बीच में आ सकता है। आप ख़ुद का व्यवसाय प्रारंभ करने के बारे में सोच सकते हैं। कार्य क्षेत्र में सीनियर्स आपकी मदद करेंगे, जिससे आपको लाभ और उनका क़ीमती अनुभव प्राप्त होगा।
उपायः पूरी श्रद्धा से भगवान शिव की आराधना करें।

आगे…

 

सिंह: सूर्य आपकी राशि से दसवे भाव में गोचर करेगा। जिसके कारण आप कार्य क्षेत्र में साहसिक फ़ैसले लेंगे और आपका ध्यान केवल अपने कार्य पर रहेगा। व्यवसाय एवं निजी जीवन में उन्नति होने की संभावना है। ऑफ़िस में सीनियर्स आपके लिए सहायक सिद्ध हो सकते हैं। सरकारी कामकाज में भी आपको संतोषजनक परिणाम प्राप्त होंगे, परंतु इस बीच माता-पिता की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है, इसलिए उनके स्वास्थ्य पर ध्यान दें।
उपायः रविवार के दिन श्वेतार्क का पौधा लगाएँ और रोज़ाना पूजा-पाठ करें।
आगे…

 

कन्या: सूर्य आपकी राशि से नौंवे भाव में गोचर करेगा। इस दौरान पिता की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है और उनके साथ आपके संबंध प्रभावित हो सकते हैं। भाई-बहन के साथ भी आपका मनमुटाव हो सकता है। व्यापारिक दृष्टि से देखा जाए तो आपको विदेशी संबंध से मुनाफ़ा होने की उम्मीद है। लॉन्ग जर्नी का अनुभव भी आपको मिल सकता है। हो सकता है आप विदेश यात्रा पर भी जाएँ। महिलाओं के साथ आदर-सम्मान से पेश आएँ, क्योंकि हो सकता है कि आपको उनके साथ समायोजन में दिक़्क़त हो। कार्य क्षेत्र में आपका उत्साह देखते ही बनेगा और आप ख़ूब मेहनत और लगन से काम करेंगे।
उपायः गाय की सेवा करें।

आगे…

 

तुला: सूर्य आपकी राशि से आठवे भाव में गोचर करेगा। जिसके कारण आपको अचानक धन हानि हो सकती है। आमदनी में भी गिरावट होने के संकेत हैं और बड़े भाई-बहन के साथ आपका मनमुटाव हो सकता है। वहीं ऑफिस अथवा कार्य क्षेत्र में वरिष्ठ कर्मियों से आपके रिश्ते मधुर होने की बजाय बिगड़ सकते हैं। हालाँकि किसी क्षेत्र में अप्रत्याशित लाभ भी मिल सकता है। अचानक ही किसी जगह जहाँ आपने सोचा न हो, वहॉं आप सैर-सपाटे के लिए भी जा सकते हैं। आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर आप किसी से पैसा उधार ले सकते हैं। जीवन साथी के साथ भी किसी तरह की तक़रार संभव है। इसलिए इस गोचर में आपको संभलकर चलने की सलाह दी जाती है।
उपायः रविवार के दिन सूर्य अथवा किसी विष्णु मंदिर में गेहूँ दान करें।

आगे…

 

वृश्चिक: सूर्य आपकी राशि से सातवे भाव में गोचर करेगा। इसके प्रभाव से आपके स्वभाव में आक्रमकता देखने को मिल सकती है, जबकि जीवन साथी के स्वभाव में अहंकार देखा जा सकता है। ऐसी स्थिति में आप दोनों के बीच तक़रार भी संभव है। कार्य क्षेत्र में आपका प्रमोशन हो सकता है अथवा आपको इस क्षेत्र में अन्य शुभ समाचार मिल सकता है। सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। वैवाहिक जीवन में आने वाले मतभेदों को दूर कर आपसी रिश्ते और मधुर बनाने का प्रयास करें।
उपायः शुक्रवार के दिन छोटी लड़कियों को टॉफी आदि वितरित करें।

आगे…

धनु: सूर्य आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेगा। इस गोचर के दौरान आपके व्यक्तित्व में साहस और पराक्रम की वृद्धि होगी। कोर्ट कचहरी का फ़ैसला आपके हक़ में आ सकता है। वहीं आप अपने शत्रुओं को पराजित करने में भी सफल होंगे। हालाँकि अप्रत्याशित व्यय से आपकी बचत पर सेंध लग सकती है। ध्यान रखें, विपरीत परिस्थितियों को अपने पक्ष में करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता पड़ेगी। जीवन साथी के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है, इसलिए उनकी सेहत का ख़्याल रखें।
उपायः भगवान सूर्य की उपासना करें और तांबे के लौटे से उन्हें जल का अर्घ्य दें।
आगे…

 

मकर: सूर्य आपकी राशि से पाँचवें भाव में संचरण करेगा, जिसके फलस्वरूप प्रेम जीवन में आपको कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। साथी के साथ आपकी बहसबाज़ी अथवा अहंकार का टकराव हो सकता है। छात्रों को पढ़ाई में भी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। वहीं बच्चे भी ज़िद करके परिजनों को परेशान कर सकते हैं। यदि आप किसी सिद्धि की प्राप्ति हेतु कर्म कर रहे हैं, तो इस गोचर के दौरान आपको सकारात्मक परिणाम मिल सकता है।
उपायः प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व सूर्य मंत्र का जाप करें।

आगे…

 

कुम्भ: सूर्य आपकी राशि से चौथे भाव में प्रवेश करेगा, जिसके कारण माता जी की सेहत में गिरावट आने की संभावना है। यदि आप शादीशुदा हैं तो जीवन साथी के लिए यह गोचर अनुकूल है, कार्य क्षेत्र में उनको पहचान मिलेगी। करियर की दिशा में वे उन्नति करेंगे। इसके बावजूद भी आप घर के माहौल से संतुष्ट नहीं रहेंगे। ऑफ़िस में आपकी पहचान एक गंभीर एवं समझदार कर्मी के रूप में होगी। व्यापार में साझेदारी से मुनाफ़ा संभव है।
उपायः रविवार के दिन गुड़ अथवा गेहूँ दान करें।

आगे…

 

मीन: सूर्य आपकी राशि से तीसरे भाव में गोचर करेगा। इस गोचर के प्रभाव से आप अपने कर्मों के प्रति दृढ़वान बनेंगे। आपके व्यक्तिगत संबंधों में सुधार देखने को मिलेगा। हालाँकि बड़े-भाई अथवा बहन से आपका मनमुटाव हो सकता है। आपके विचारों में उदारता एवं दान-दक्षिणा का भाव देखा जा सकता है। आपके धार्मिक स्वभाव में वृद्धि हो सकती है। इस दौरान आप अपने धार्मिक ज्ञान को बढ़ाने में रुचि लेंगे। किसी छोटी यात्रा पर जाने के योग हैं। पिता जी को गोचर का लाभ मिलेगा।
उपायः हनुमान जी की आराधना करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App