ऑफिस में बनी रहेगी पॉजिटिव एनर्जी, अगर अपनाएंगे वास्तु से जुड़े ये उपाय

Published by Published: November 22, 2016 | 5:21 pm
Modified: November 23, 2016 | 8:53 am
office direction

office direction

लखनऊ: अक्सर होता है कि लोग मेहनत तो करते हैं, लेकिन उन्हें उनकी इच्छानुसार फल नहीं मिल पाता है। दिन-भर की भाग-दौड़ के बाद उन्हें उनकी जिंदगी में संतुष्टि नहीं मिलती है। ऐसे लोगों को ज्योतिष और वास्तु में भी यकीन करके देखना चाहिए। वास्तुशास्त्र में विश्वास करने वाले कुछ नियमों को अपनाकर अपनी जिंदगी की खुशियों के रास्ते खोल सकते हैं। वास्तुशास्त्र के अनुसार पैसा और अन्य कीमती चीजों को उत्तर दिशा की ओर मुख वाली वाली अलमारी में रखना चाहिए।

वहीं ऑफिस में किस चीज को रखने की कौन सी जगह उचित है, इसके लिए अगर वास्तु का ध्यान रखें, तो इससे आपकी जिंदगी में तरक्की और सुख-समृद्धि आने के मार्ग खुल सकते हैं।

ऑफिस में किन बातों का रखें ध्यान

-ऑफिस में  पैसे और कीमती चीजों को उत्तर की ओर रखी अलमारी में रखने से लाभ होता है।

-किसी भी ऑफिस में मालिक की सीट के पीछे मंदिर नहीं होना चाहिए।

-ऑफिस के मालिक को पूर्व या उत्तर की ओर मुंह करके बैठना चाहिए अगर जरूरत पड़े, तो पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके भी बैठा जा सकता है, लेकिन दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके कभी गलती से नहीं बैठना चाहिए।

आगे की स्लाइड में जानिए और किन बातों का ऑफिस में रखना चाहिए ध्यान

office2

-अगर ऑफिस को तरक्की के रस्ते पर ले जाना है, तो मालिक की सीट के पीछे मजबूत दीवार होनी चाहिए।

-मालिक का डेस्क हमेशा आयताकार होनी चाहिए।

-किसी भी फैक्ट्री या ऑफिस का केंद्र स्थान यानी की ब्रह्म स्थान खाली होना चाहिए ब्रह्म स्थान पर कभी भी कोई भारी वस्तु भूलकर भी नहीं रखनी चाहिए।

-मैनेजर, ऑफिसर्स और डायरेक्टर्स के बैठने की सीट की व्यवस्था ऑफिस की दक्षिण, पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए।

-कहते हैं कि अकाउंट डिपार्टमेंट को दक्षिण-पूर्व दिशा में होना चाहिए इससे काफी लाभ मिलता है।

-किसी भी ऑफिस में रिसेप्शन उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए।

-अगर फायदा चाहिए तो ऑफिस का मार्केटिंग डिपार्टमेंट उत्तर-पश्चिम दिशा में स्थापित करना चाहिए।

तो अगर आप चाहते हैं कि आपका ऑफिस या आर्गेनाईजेशन तरक्की के रास्ते पर जाएं और ऑफिस में हमेशा पॉजिटिव एनर्जी बनी रहे, तो हमेशा वास्तु के नियमों का पालन करना चाहिए।