रहना है खुशहाल तो घर लाएं रावण दहन की राख, जानें और भी फलदायक उपाय

ravan
लखनऊ: वैसे तो आश्विन की शुक्ल पक्ष की दशमी को दशहरा पर्व मनाया जाता है। ये पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत के रुप में मनाते हैं। इस दिन को सर्वस‌िद्ध मुहूर्त के रूप में जाना जाता है, क्योंक‌ि  मां दुर्गा 9 दिन मृत्यु लोक में रहकर अपने लोक ल‌िए प्रस्‍थान करती हैं। भगवान श्री राम ने इसी द‌िन रावण का वध भी क‌िया था। इतना ही नहीं नवरात्र के द‌िन कुबेर ने स्वर्ण की वर्षा करके धरती को धन धान्य से पूर्ण किया था।

वैसे तो हर त्योहार खुशियां ही लेकर आता है, लेकिन आप चाहते हैं कि पूरे साल ये खुशियां बरकरार रहे तो इस दशहरा ये उपाय करें , ताकि आपके जीवन में खुशियों का भंडार भरा रहे।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दशहरा को क्या करें…
shami

शमी की करें पूजा
दशहरा के द‌िन शमी के वृक्ष की पूजा करें। अगर संभव हो तो इस द‌िन अपने घर में शमी के पेड़ लगाएं और न‌ियम‌ित दीप द‌िखाएं। मान्यता है क‌ि दशहरा के द‌िन कुबेर ने राजा रघु को स्वर्ण मुद्राएं देने के ल‌िए शमी के पत्तों को सोने का बना द‌िया था। तभी से शमी को सोना देने वाला पेड़ माना जाता है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दशहरा को क्या करें…

neel-kanth

अगर दिखे नीलकंठ दिखे तो मिलेगी खुशियां
दशहरे के द‌िन नीलकंठ पक्षी का दर्शन बहुत ही शुभ होता है। माना जाता है क‌ि इस द‌िन यह पक्षी द‌िखे तो आने वाला साल खुशहाल होता है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दशहरा को क्या करें…

rawan
रावण दहन की राख लाएं घर
रावण दहन के बाद बची हुई लकड़‌ियां म‌िल जाए तो उसे घर में लाकर कहीं सुरक्ष‌ित रख दें। इससे नकारात्मक शक्‍त‌ियों का घर में प्रवेश नहीं होता है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दशहरा को क्या करें…
rumaal

लाल रंग के रुमाल से मां दुर्गा के चरण पोंछे
दशहरे के द‌िन लाल रंग के नए कपड़े या रुमाल से मां दुर्गा के चरणों को पोंछ कर इन्‍हें त‌िजोरी या अलमारी में रख दें। इससे घर में बरकत बनी रहती है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दशहरा को क्या करें…

journey

यात्रा करें
दशहरे के द‌िन देवी यात्रा करती हैं इसल‌िए इस द‌िन को यात्रा के ल‌िए शुभ द‌िन माना जाता है। इस द‌िन संभव हो तो यात्रा करें भले ही वह छोटी दूरी की हो। इससे आपकी यात्रा में आने वाली बाधाएं दूर होती है। ज‌‌िन लोगों को व‌िदेश यात्रा की इच्छा है उन्‍हें यात्रा का योग मजबूत बनाने के ल‌िए यह उपाय आजमाना चाह‌िए।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें दशहरा को क्या करें…
jayanti

मां के इस मंत्र का करें जाप
दशहरे के द‌िन स‌िर पर जयंती रखें और ‘ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली कपानल‌िनी। दुर्गा क्षमा श‌‌िवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।। मंत्र का जप करें। इससे आरोग्य सुख की प्राप्त‌ि होती है। जयंती को त‌िजोरी या अलमारी में रखने से धन धान्य की प्राप्त‌ि और बरकत होती है।