Top

टिकट में टप्पेबाजीः असली नेता का टिकट ले उड़ा, भाजपा कार्यकर्ता

बिहार के समस्तीपुर जिले में रोसड़ा सीट एनडीए गठबंधन में बीजेपी के खाते में गई थी। वहां से वीरेन्द्र कुमार पासवान का नाम उम्मीदवार के रूप में सूची में जारी किया गया था। सूची सोशल मीडिया पर वायरल होते ही एक अजीबोगरीब वाकया हुआ।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 13 Oct 2020 6:39 AM GMT

टिकट में टप्पेबाजीः असली नेता का टिकट ले उड़ा, भाजपा कार्यकर्ता
X
टिकट में टप्पेबाजीः असली नेता का टिकट ले उड़ा, भाजपा कार्यकर्ता
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बिहार में विधानसभा का चुनाव होने वाला है ऐसे में पार्टियां अपने-अपने प्रत्त्याशियों को टिकट बांटने का काम कर रही हैं। किसी पार्टी का कार्यकर्ता अपने ही नेता का टिकट हथिया ले, ऐसा आपने पहली बार सुना होगा। ऐसा ही दिलचस्प मामला लोगों को बिहार के रोसड़ा विधासनसभा में देखने को मिला। जहां एक जैसे नाम होने के कारण असली उम्मीदवार की जगह किसी कार्यकर्ता ने ही उनके नाम से टिकट ले लिया और नामांकन करने अनुमंडल कार्यालय भी पहुंच गया।

बीजेपी के कार्यकर्त्ता अपने ही नेता को चकमा दे गए

बिहार के समस्तीपुर जिले में रोसड़ा सीट एनडीए गठबंधन में बीजेपी के खाते में गई थी। वहां से वीरेन्द्र कुमार पासवान का नाम उम्मीदवार के रूप में सूची में जारी किया गया था। सूची सोशल मीडिया पर वायरल होते ही एक अजीबोगरीब वाकया हुआ। बीजेपी के कार्यकर्त्ता अपने ही नेता को चकमा दे गए।

bihar election-bjp

टिकट भी लिया और नामांकन भरने भी पहुंच गया

बीजेपी प्रदेश कार्यालय में उम्मीदवारों की लाइन लगी हुई थी। सूची में वीरेन्द्र कुमार पासवान नाम देख कर दरभंगा निवासी वीरेन्द्र पासवान ने वीरेंद्र कुमार पासवान बता कर रोसड़ा विधानसभा क्षेत्र का पार्टी सिंबल ले लिया। उसमें अपना नाम, पिता का नाम भर लिया और सिंबल लेकर नामांकन करने समस्तीपुर जिले के रोसड़ा अनुमंडल कार्यालय पहुंच गए।

ये भी देखें: राजस्थान में बिगड़े हालातः अब बुजुर्ग की पीटकर हत्या, 5 युवक हिरासत में

बीजेपी नेताओं के उड़े होश

बता दें कि समस्तीपुर बीजेपी जिला मंत्री वीरेंद्र कुमार पासवान को पार्टी ने प्रत्याशी घोषित किया है। जब ये लोग सोमवार को पटना स्थित पार्टी कार्यकाल पहुंचे तो उन्हें जानकारी दी गई कि सिंबल तो वीरेन्द्र कुमार पासवान ले गए हैं। ये बात सुनते ही बीजेपी नेताओं के होश उड़ गए कि वीरेंद्र कुमार पासवान तो हमारे साथ हैं फिर कौन टिकट ले गया।

bihar election-2

ये भी देखें: कोरोना हुआ बहुत खतरनाक: मरीजों को हो रहीं ये परेशानियां, जानिए क्या है वजह

गुमराह होने से बचने की अपील

जब इसकी जांच शुरू हुई काफी संख्या में बीजेपी के कार्यकर्ताओं को रोसड़ा अनुमंडल कार्यालय भेजा गया तब मामले का खुलासा हुआ कि दरभंगा के रहने वाले वीरेंद्र पासवान चकमा देकर बीजेपी पार्टी का सिंबल ले आए हैं। इसकी सूचना प्रदेश कार्यालय को दी गई। तब पहले जारी किए गए सिंबल को रद्द करते हुए असली वीरेन्द्र कुमार पासवान के नाम से नया सिंबल जारी किया गया। अब समस्तीपुर बीजेपी के कार्यकर्त्ता सोशल मीडिया पर असली प्रत्याशी वीरेंद्र कुमार पासवान और नकली प्रत्याशी वीरेंद्र पासवान के बारे में जिक्र करते हुए गुमराह होने से बचने की अपील कर रहे हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story