Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

10 लाख रुपए फिरौती लेने के बाद LJP नेता की गोली मारकर हत्या

पूर्णिया में रविवार की सुबह एक अपहृत लोजपा नेता का शव मिलने के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad MishraBy Raghvendra Prasad Mishra

Published on 2 May 2021 7:46 AM GMT

Ransom murder
X

फाइल फोटो— (साभार—सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पूर्णिया। बिहार में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। अपराधियों के हौसले इस कदर बुलंद है कि वह नेताओं से भी फिरौती मांगने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। पूर्णिया में रविवार की सुबह एक अपहृत लोजपा नेता का शव मिलने के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि फिरौती की रकम लेने के बाद अपहर्ताओं ने इस घटना को अंजाम दिया है। लोजपा नेता अनिल उरांव का 29 अप्रैल को अपहरण हुआ था और अपहरणकर्ताओं ने छोड़ने के लिए दस लाख रुपए की फिरौती मांगी गई थी। फिरौती राशि देने के बावजूद भी रविवार की सुबह अनिल उरांव की लाश मिली।

मारने से पहले की गई पिटाई

ढगराहां में अनिल उरांव का शव मिलने के बाद क्षेत्र के लोग आक्रोशित हो गए हैं। परिजनों के अनुसार फिरौती की राशि देने के बाद भी बदमाशों ने हत्या कर दी। वहीं यह भी आशंका जताई जा रही है कि अपराधियों ने मामले को उलझाने के लिए फिरौती की रकम को वसूला है। असल मुद्दा जमीनी रंजिश होने की बात सामने आ रही है। शव को देखने से लग रहा है कि अनिल को गोली मारने से पहले उसकी पिटाई की गई है, क्योंकि उसके शरीर पर गंभीर चोट के निशान भी देखें जा रहे हैं।

Also Read:पुलिस का दिखा अमानवीय चेहरा, चोरी करने पर बच्चों को दी तालिबानी सजा

हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी की मांग

बता दें कि लोजपा आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल उरांव का अपहरण खजांची हाट थानाक्षेत्र से 29 अप्रैल को किया गया था। वहीं अनिल उरांव की लाश मिलने के बाद क्षेत्र में रोष का माहौल बन गया है। आक्रोशित लोगों ने घटना के विरोध में पूर्णिया की कई सड़कों को जाम कर दिया है। ज्ञात हो कि अनिल उरांव की बरामदगी को लेकर शनिवार को भी आक्रोशित लोगों ने सड़क को जाम किया था। लेकिन बाद में पुलिस के आश्वासन के बाद लोगों ने जाम खत्म कर दिया था। वहीं अब शव मिलने के बाद परिजनों में मातम छा गया है। आक्रोशित लोग हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।


Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story