8वीं कक्षा तक स्कूल खुलेंगे: इस दिन से छोटे बच्चे लेंगे क्लास, सरकार ने की तैयारी

अब क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को भी जल्द ही स्कूल जाने की अनुमति मिल सकती है। बिहार सरकार इस बाबत विचार कर रही है। 25 जनवरी को इस पर बैठक होगी।

Published by Shivani Awasthi Published: January 20, 2021 | 9:50 am
Modified: January 20, 2021 | 9:53 am
School

School Reopen (फोटो: सोशल मीडिया)

पटना. कोरोना महामारी के बीच पिछले 10 महीनों से बन्द स्कूल भले ही बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर क्लास 9 से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए खुल गए हों लेकिन छोटी कक्षाओं के बच्चों की क्लासेज अब तक नहीं शुरू हुईं। प्राइमरी से 8वीं तक के छात्र स्कूल खुलने का इंतज़ार कर रहे हैं। ऐसे में अब जल्द ही उनके लिए भी स्कूल खुल सकते हैं।

बिहार में क्लास 1 से 8 तक के स्कूल खोले जाने की तैयारी

दरअसल, अब क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को भी जल्द ही स्कूल जाने की अनुमति मिल सकती है। बिहार सरकार इस बाबत विचार कर रही है। राज्य शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने जानकारी दी कि महीने के आखिर तक क्लास 1 से 8 तक के लिए स्कूल खुल जाएंगे। नीतीश सरकार इसपर जल्द फैला ले सकती है।

ये भी पढ़ेंः सरकार और किसानों में 10वें दौर की बैठक आज, ट्रैक्टर रैली पर SC में सुनवाई

सरकार की अनुमति के बाद 27 जनवरी से खुल सकतें हैं स्कूल

इस मामले में आगामी 25 जनवरी तक मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आपात प्रबंधन समूह की बैठक होगी। 27 जनवरी से छोटे बच्चों के लिए शर्तों के साथ स्कूल खोले जा सकते हैं।

school reopen in bihar

बता दें कि 4 जनवरी से केंद्र की अनुमति और गाइडलाइन के अनुरूप क्लास 9 से 12 तक की कक्षाएं संचालित हो रही हैं। इसके तहत क्लास को दो बैच में बांटा गया है। 50 प्रतिशत बच्चे एक बैच में और बाकी 50 फीसदी दूसरे बैच में क्लास लेते हैं। वहीं स्कूलों में 50% में से 30 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति देखी जा रही है। ऐसे में अब उसी पैटर्न पर क्लास 1 से 8 तक के बच्चों की भी पढ़ाई शुरू किये जाने की तैयारी है।

ये भी पढ़ेंः JEE Main Exam 2021: छात्रों के लिए खुशखबरी, दाखिले में 75% अंक का नियम हटा

4 जनवरी से 9वी से 12वीं के छात्रों की क्लासेज जारी

गौरतलब है कि 4 जनवरी से 9वीं कक्षा से लेकर 12वीं तक के लिए स्कूल खोले जाने के बाद मुंगेर, नवादा, पटना समेत कई जिलों में शिक्षक से लेकर छात्र तक कोरोना संक्रमित पाए गए थे। मामला सामने आने के बाद शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर अनुरोध किया कि राज्य के सरकारी स्कूलों में रेंडमली छात्रों और शिक्षकों की कोरोना जांच की जाए। जिलों में सैम्पल जांच की प्रक्रिया शुरु हुए।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App