बजट 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट की तारीफ करते हुए कहा कि इसमें रोजगार बढ़ाने और अर्थव्यवस्था को गति देने पर काफी जोर दिया गया है। पीएम ने कहा कि नए दशक के पहले बजट में विजन भी है, ऐक्शन भी।

टर्नओवर की सीमा 5 गुणा बढ़ाकर 5 करोड़ रुपये की गई बढ़ाई गई सीमा केवल उन्हीं उद्यमों पर लागू होगी, जिनके कारोबार में नगद लेनदेन की हिस्सेदारी 5 प्रतिशत से कम है नई दिल्ली। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) क्षेत्र के अंतर्गत छोटे खुदरा विक्रेता, व्यापारी, दुकानदार आदि आते हैं। इन उद्यमों पर अनुपालन …

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट सदन में पेश कर दिया है। इस बजट में मध्‍यम समेत हर वर्ग के लिए कई खास ऐलान किए गए हैं। बजट 2020 में रक्षा बजट में 6 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई। यह अब 3.37 लाख करोड़ हो गया है।

वित्त मंत्री ने बजट में वर्ष 2020-21 के लिए 85,000 करोड़ रुपये के बजट प्रावधान का प्रस्ताव दिया। बजट प्रस्ताव में श्रीमती सीतारमण ने अनुसूचित जनजातियों के कल्याण तथा विकास के लिए वर्ष 2020-21 के दौरान 53,700 करोड़ रुपये के आवंटन का प्रस्ताव दिया।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  ने शनिवार को देश का 91वां बजट पेश किया और इसमें अलग-अलग क्षेत्रों के लिए घोषणाएं की। जहां एक तरफ इस बजट से लोगों और बाजार की उम्मीदों को झटका लगता नजर आया।

आर्थिक सुस्ती से गुजर रहे देश में वित्त मंत्री के मुंह से आर्थिक विकास दर की बात विपक्ष को नहीं पची। वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान बताया कि वित्त वर्ष 2020-21 में दस फीसदी आर्थिक विकास दर का हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है। वित्त मंत्री के इतना कहते ही विपक्ष सदन में हंगामा करने लगा।

देश के आम बजट 2020 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई बड़े ऐलान किए हैं। मोदी सरकार शुरु से ही टेक्नॉलजी और डिजिटलीकरण पर जोर दे रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि सरकार अगले 5 सालों में क्वांटम ऐप्लिकेशन पर 8 हजार करोड़ रुपये खर्च करेगी।

वर्ष 2020-21 के दौरान पोषण संबंधी कार्यक्रमों के लिए 35,600 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है और महिला विशिष्ट कार्यक्रमों के लिए 28,600 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव दिया है। वित्त मंत्री ने यह घोषणा महिलाओं के कल्याण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हुए की।

शनिवार 1 अप्रैल को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में देश का बजट पेश किया। उन्होंने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल (2.0) का दूसरा बजट पेश किया है। ये दूसरी बार है जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में बजट पेश किया गया।

वर्ष 2019-20 का आम बजट पेश करने के बाद बजट पेश करने वाली देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्तमंत्री बन चुकीं निर्मला सीतारमण एक और रिकार्ड बना दिया। मोदी सरकार-2 की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पहली फरवरी को अपना दूसरा आम बजट पेश करते हुए सबसे लंबा बजट भाषण दिया।