बिज़नेस

इन स्क्रैपेज सेंटर पर हर तरह के पुराने स्टील को शामिल किया जाएगा। इस पॉलिसी को लाने का मकसद ये है कि सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा लोग स्क्रैप बेचने के लिए आगे आएं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड पेट्रोलियम से लेकर, रीटेल और टेलीकॉम जैसे विभिन्न सेक्टर्स में फैली हुई है और इसने वित्त वर्ष 2018-19 में कुल 6.23 लाख करोड़ रुपये का कारोबार कर लिया है।

नई दिल्ली: दूसरी बड़ी सरकारी कंपनी भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL) में मोदी सरकार ने अपना हिस्सा बेचने का मन बनाया है। इसके लिए सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी है। इस वक़्त सरकार की BHEL में 63.17 फीसदी हिस्सेदारी है। अब सरकार ने मन बनाया है कि वह इसे घटाकर 26 फीसदी करना चाहती …

वाशिंगटन। भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारतीय मुद्रा कोष के मुख्यालय में अंतरराष्ट्रीय निवेशकों से विचार विमर्श के सत्र में कहा है कि निवेशकों को अपनी पूंजी लगाने के लिए भारत के अलावा कोई बेहतर जगह नहीं है। भारत में पूंजीपतियों के लिए उचित माहौल है। सरकार लगातार आर्थिक सुधारों पर काम कर रही है।

नई दिल्ली: त्योहार के सीजन में अक्सर सोने-चांदी पर भारी डिस्काउंट मिलता है। त्योहारों की वजह से इनकी डिमांड में तेजी भी देखने को मिलती है। इसके साथ धोखाधड़ी का खेल भी शुरू होता है। एक बार फिर गोल्ड की ठगी का कारोबार शुरू हो चुका है। यह भी पढ़ें: दिल्ली पर मंडरा रहा खतरा! NASA …

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भी भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की हालत पर चेतावनी जारी की है। आईएमएफ का कहना है कि भारत जैसे देश में आर्थिक सुस्ती अब ज्यादा नजर आने लगी है। यही नहीं, अब तो चीन की अर्थव्यवस्था भी सुस्त हो रही है।

एनपी कॉम्पलेक्स के नए दाम अब 950 रुपये हो गए हैं। हालांकि, नीम कोटेड यूरिया के दाम में कोई कटौती नहीं हुई है। ऐसे में अभी भी ये 266.50 रुपये प्रति 45 किलो बोरी पर ही मिलेगा।

गोल्ड में निवेश करने का ये बिल्कुल सही मौका है। लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि अच्छे मुनाफे के लिए लोगों को फिजिकल गोल्ड के बजाए गोल्ड ETF में निवेश करना चाहिए।

सोने की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। इस पर एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस बार धनतेरस पर सोने की खरीदारी पर 50 फीसदी तक कमी हो सकती है।

ऐसे में अगर त्योहार पर घर जाने का प्लान बना रहे हैं तो अब आराम से जाइए। रेलवे के इस बड़े कदम के बाद आप अगर कोई शॉर्ट ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो वो भी आराम से कर सकते हैं। रेलवे के इस कदम की वजह से अब यात्रियों को काफी आराम होगा।