मोदी सरकार का बड़ा फैसला: अब इस दिन से मिलेगा खरा सोना, नहीं हो सकेगा खेल

शादियों का सीजन है सोने चांदी की खरीददारी तो लोग कर ही रहे हैं। चाहें खुशी से या मजबूरी से ।अगर आप भी सोने के गहने खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो ये खबर पढ़ें। बता दें शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जानकारी दी है कि  15 जनवरी से देश में सोने की हॉलमार्किंग अनिवार्य होगी।

Published by suman Published: November 29, 2019 | 8:41 pm

नई दिल्ली:  शादियों का सीजन है सोने चांदी की खरीददारी तो लोग कर ही रहे हैं। चाहें खुशी से या मजबूरी से ।अगर आप भी सोने के गहने खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो ये खबर पढ़ें। बता दें शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जानकारी दी है कि  15 जनवरी से देश में सोने की हॉलमार्किंग अनिवार्य होगी। उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने शुक्रवार को इसका ऐलान किया। मंत्रालय अगले साल 15 जनवरी तक इस बारे में अधिसूचना जारी कर देगा। हालांकि, सूत्रों का कहना है कि सरकार सर्राफा कारोबारियों को पुराना स्टॉक निकलने के लिए कुछ समय दे सकती है।

 

यह पढ़ें…बड़ी खबर! आमरण अनशन कर रहे उपेन्द्र कुशवाहा, समर्थकों ने किया जमकर हंगामा

 

उन्होंने बताया कि बीआईसी( BIS )हॉल मार्किंग जरूरी होने के बाद अगर कोई ज्वेलर नियमों की अनदेखी करता है तो एक लाख रुपये का जर्माना और एक साल की सजा हो सकती है। इसके अलावा जुर्माने के तौर पर सोने की वैल्यू का पांच गुना तक चुकाने का प्रावधान भी किया गया है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ज्वेलर्स को इसके लिए एक साल का वक्त दिया जाएग। सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया  है ताकि ग्राहकों को शुद्ध सोना मिले। इस नियम के लागू किए जाने के बाद नए नि‍यमों के तहत अब सोने की जूलरी की हॉल मार्किंग होना अनि‍वार्य होगा। इसके लि‍ए ज्‍वेलर्स को लाइसेंस लेना होगा।

 

यह पढ़ें…हॉलीवुड स्टार ने मोदी को लिखा पत्र, बढ़े प्रदूषण को लेकर कही ये बात

 

सरकार ने कहा है कि ज्वेलर्स को एक साल में पुराने स्टॉक को खत्म करना होगा। भारतीय मानक ब्यूरो के 234 जिलों में 877 केंद्र खोले गए हैं। देशभर में छोटे बड़े 6 लाख ज्वेलर्स हैं। वर्तमान समय में केवल 26,019 ज्वेलर्स के पास ही हॉलमार्का है। फिलहाल ज्वैलरो के पास पुराने स्टॉक को बेचने व खत्म करने की चुनौती है। ताकि आने वाले समय में सरकार के नियमों का पालन कर सकें। सरकार के इस कदम से अब लोगों को शुद्ध सोना मिलेगा और धोखाधड़ी की संभावना कम होगी। वैसे अब भी लोग सोना लेते समय हॉलमार्ग का ध्यान रखते है।