18 राज्यों की 53 सीटों पर उपचुनाव: जानिए कौन जीता, कौन हारा

महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के अलावा 18 राज्यों के 53 सीटों पर उपचुनाव के लिए गिनती हुई। इसमें महाराष्ट्र और बिहार की एक-एक लोकसभा सीटें भी शामिल हैं। विधानसभा चुनाव की तरह से इस उपचुनाव में भी बीजेपी को मनमुताबिक सफलता नहीं मिली हैं।

नई दिल्ली: महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के अलावा 18 राज्यों के 53 सीटों पर उपचुनाव के लिए गिनती हुई। इसमें महाराष्ट्र और बिहार की एक-एक लोकसभा सीटें भी शामिल हैं। विधानसभा चुनाव की तरह से इस उपचुनाव में भी बीजेपी को मनमुताबिक सफलता नहीं मिली हैं। बीजेपी ने अपनी कई विधानसभा सीटें गंवा दी हैं जो उसकी परंपरागत सीटें थीं।

समस्तीपुर(बिहार)

इस सीट से लोक जनशक्ति पार्टी(एलजेपी) के रामचंद्र पासवान सांसद थे, लेकिन जुलाई 2019 में उनकी मौत होने की वजह से यह सीट खाली हो गई थी। इस उपचुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी के प्रिंस राज ने जीत हासिल की है। प्रिंस राज ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के अशोक कुमार को 1 लाख से भी ज्यादा मतों से हरा दिया।

यह भी पढ़ें…शिवसेना ने उठाई इनको CM बनाने की मांग, महाराष्ट्र में राजनीतिक भूचाल

सतारा(महाराष्ट्र)

महाराष्ट्र की सतारा लोकसभा सीट पर उपचुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के श्रीनिवास पाटिल ने जीत हासिल की है। यहां से बीजेपी प्रत्याशी उदयनराजे भोसले को करारी हार मिली है। विधानसभा चुनाव से पहले सांसद उदयनराजे भोसले ने एनसीपी से इस्तीफा देकर बीजेपी का दामन थाम लिया था जिसके बाद यह सीट खाली हो गई थी।

यूपी

उत्तर प्रदेश की 11 सीटों में से बीजेपी ने सात सीटों पर जीत हासिल की है। समाजवादी पार्टी ने रामपुर समेत तीन सीटों पर कब्जा जमाया है, जबकि अपना दल (सोनेलाल) ने एक सीट जीती है।

यह भी पढ़ें…बीजेपी हरियाणा में ऐसे बनाएगी सरकार, अभी-अभी आई बड़ी खबर

बिहार

बिहार की 5 सीटों पर हुए उपचुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को झटका लगा है। सत्ताधारी जदयू-बीजेपी गठबंधन ने सिर्फ एक सीट पर पर जीत हासिल कर पाया है। आरजेडी ने दो सीटों पर जीत हासिल की है, तो वहीं एक सीट पर औवेसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएमआईएम) ने जीत दर्ज की है। एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार को जीत मिली है।

केरल

केरल में 5 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुआ था। इस उपचुनाव में सीपीएम ने दो सीटें जीती हैं, तो वहीं कांग्रेस ने दो सीट जीत दर्ज की है और एक पर इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने जीती है।

यह भी पढ़ें…बिहार उपचुनाव: नीतीश को लगा तगड़ा झटका

पंजाब

पंजाब में 4 सीटों विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में तीन पर कांग्रेस ने जीत हासिल की है जबकि एक सीट पर शिरोमणी अकाली दल को जीत मिली है।

असम

असम में बीजेपी की सरकार है। यहां हुए उपचुनाव में बीजेपी ने 3 सीटों पर जीत हासिल की है। तो वहीं एक सीट पर एआईयूडीएफ ने जीत दर्ज की है।

यह भी पढ़ें…सरकार बनाने का संकेत: जाने बीजेपी के चाणक्य ने क्या कहा

राजस्थान

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है और अशोक गहलोत मुख्यमंत्री हैं। यहां उपचुनाव में कांग्रेस ने एक सीट पर जीत हासिल की है जबकि एक पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को जीत मिली है।

मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल की है। प्रदेश में यह बीजेपी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है, क्योंकि यह बीजेपी की परंपरागत सीट मानी जाती है। इस विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक गुमान सिंह डामोर को बीते लोकसभा चुनाव में सांसद चुन लिए जाने के बाद से अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित यह सीट रिक्त हुई थी थी।

यह भी पढ़ें…हरियाणा में खट्टर के इन दिग्गज मंत्रियों को जनता ने सिखाया सबक

-तमिलनाडु  में दो सीटों पर उपचुनाव हुए थे और दोनों पर एआईएडीएमके ने जीत हासिल की है।

-तेलंगाना की एक सीट पर तेलंगाना राष्ट्र समिति(टीआरएस) ने जीत दर्ज की है।

-ओडीशा में एक सीट पर उपचुनाव हुआ था और इस सीट पर सत्ताधारी पार्टी बीजू जनता दल(बीजेडी) ने जीत हासिल की है।

-छत्तीसगढ़ की चित्रकूट सीट पर हुए उपचुनाव में सत्ताधारी कांग्रेस ने जीत हासिल की है। बस्तर में आने वाली इस सीट पर भी इससे पहले बीजेपी जीतती आ रही थी।

यह भी पढ़ें…आजम के गढ़ में भाजपा की बेइजजती: सपा ने लगाया छक्का

-मेघालय की एक सीट पर यूडीपी ने जीत हासिल की है।

-गुजरात की 6 सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने तीन पर जीत हासिल कर ली है, तो वहीं बीजेपी ने तीन सीटों पर जीत दर्द की है।

-पुडुचेरी में एक सीट पर चुनाव हुआ था और कांग्रेस ने जीत दर्ज की।

-सिक्किम में तीन सीटों पर चुनाव हुए जिसमें दो सीटें भाजपा ने और एक सीट सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा ने जीती है।

-हिमाचल प्रदेश में दो सीटों पर बीजेपी प्रत्याशी जीते हैं।

-अरुणाचल प्रदेश में एक सीट पर चुनाव हुआ जहां निर्दलीय प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है।