चुनाव

बता दें कि महाराष्ट्र में भले ही भाजपा-शिवसेना की जोड़ी जीत गई हो लेकिन खुद BJP के लिए नतीजे वैसे नहीं रहे हैं जैसी उसे उम्मीद थी।

महाराष्ट्र की राजनीति से जुड़ी एक बड़ी खबर है। यहां परली विधानसभा सीट पर सियासी लड़ाई भाई (धनंजय मुंडे) और बहन (पंकजा मुंडे) के बीच थी जिसमें बहन को आखिरकार हार का सामना करना पड़ा है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तस्वीर अब साफ हो गई है। महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन फिर से सत्ता में वापसी करता दिखाई दे रहा है। महाराष्ट्र में बीजेपी गठबंधन की सरकार बनने में कोई परेशानी नजर नहीं आ रही है।

महाराष्ट्र की राजनीति से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज उदयनराजे भोसले को चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा है।

महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के साथ 18 राज्यों की 53 सीटों पर उपचुनाव हुआ था। इनमें दो बिहार की समस्तीपुर और महाराष्ट्र की सतारा लोकसभा सीट पर भी उपचुनाव हुआ था।

हरियाणा में सीटों की संख्या पर लगातार फेरबदल वाले आंकड़े सामने आ रहे हैं। जहां कांग्रेस एक बार बीजेपी को टक्कर देते हुए बराबरी पर आ गई थी तो वहीं एक बार फिर बीजेपी ने वापसी कर ली है और पार्टी कांग्रेस से काफी आगे निकल गई है। c

दोपहर 1:45 बजे के बाद आये नतीजों के अनुसार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला कैथला सीट से अपना चुनाव हार गए हैं। सुरजेवाला 567 वोटों से अपना चुनाव हार गए हैं। इसके साथ ही हरियाणा सरकार में मंत्री कैप्टन अभिमन्यु भी अपनी सीट नहीं बचा पाए।

ताजा जानकारी के मुताबिक अभी तक के आए रुझानों को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भूपेंद्र सिंह हुड्डा से फोन पर बात की है और उन्हें हरियाणा में सरकार बनाने के लिए पूरा फ्री हैंड दिया है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के रुझानों के बीच शिवसेना ने बड़ा बयान दिया है। पार्टी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की मांग रख दी है। शिवसेना ने इसके लिए उद्धव ठाकरे के बेटे और पार्टी नेता आदित्य ठाकरे का नाम आगे बढ़ाया है।

हरियाणा विधानसभा की बात करें तो हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों पर कई दिग्गज नेता अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। हरियाणा विधानसभा की 90 सीटों पर मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), कांग्रेस और जननायक जनता पार्टी के बीच देखने को मिल रहा है।