ये तो घर से निकली ही नहीं, फिर भी पकड़ लिया कोरोना वायरस ने

डाक्टरों ने अपनी स्टडी में पाया कि ऐसे मरीज पाये गए जो सब एहतियात बरत रहे थे लेकिन अन्जाने में अपने अपार्टमेंट के गेट, लिफ्ट, डिलीवरी पैकेज आदि छूने से संक्रमित हो गए। इसके अलावा जूतों के जरिये भी वायरस अपने घर या आफिस में ले आए थे। 

नई दिल्ली। कोरोना वायरस किस तरह वार करता है इसके बारे में बेहद चौकाने वाली खबरें आयीं हैं। ऐसे – ऐसे लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया जो किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में दूर-दूर तक नहीं आए थे। इस नई जानकारी से कोरोना की संक्रामक शक्ति की गहराइयों का पता चला है। एक्स्पर्ट्स का कहना है कि कोरोना से बचने के लिए लोगों को अपनी व्यक्तिगत रणनीति में व्यापक बदलाव लाना होगा।

इटली के लोमबर्डी शहर में एक मामला आया जिसमें एक ऐसे वृद्ध व्यक्ति को संक्रमण हो गया जो अपने फार्म पर अकेले रहते थे। उनका किसी भी व्यक्ति से कोई संपर्क नहीं हुआ फिर भी बीमार पड़ने पर उनमें कोरोना वायरस पाया गया। पता चला कि उनके फार्म पर 20 दिन पूर्व फर्टिलाइज़र की डिलिवरी हुई थी। इस दौरान भी वे डिलीवरीवाले से निकट संपर्क में नहीं आए लेकिन रहस्यमय रूप से वह संक्रमित हो गए। बाद में वह डिलीवरीमैन भी संक्रमित निकला।

घर आ गया संक्रमण

अमेरिका में एक केस आया है जिसमें एक महिला जो तीन हफ्ते से ज्यादा समय से अपने आप को घर में बंद किए हुए थी फिर भी वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई। टेक्सास प्रांत की ये महिला कोरोना वायरस से बहुत आतंकित थी क्योंकि उसे पता था कि बीमार और बूढ़े लोगों को संक्रमण का जोखिम बहुत ज्यादा है। ये महिला तीन हफ्ते सिर्फ दवा लेने एक बार दुकान तक गई थी। इस महिला और उनके पति को डाक्टरों ने घर पर ही बंद रहने की हिदायत दी थी। ये दोनों कहीं गए भी नहीं लेकिन कोरोना इनके घर तक आ गया।

ये भी पढ़ें

कोरोना: 12 घंटे तक सड़क पर लावारिस पड़ी रही लाश, शव उठाने अगले दिन पहुंची टीम

खाने-पीने के सामान के साथ आया कोरोना

पड़ताल में पता चला कि इस वृद्ध दंपति के घर खाने-पीने का सामान एक अन्य महिला दे गई लेकिन वह भी घर के गेट के पास सामान रख कर चली गई थी। उसके पास भी कोई नहीं आया। बाद में वृद्ध महिला दस्ताने पहन कर सामान घर के भीतर ले आई। इसके 5 दिन बाद इस महिला को खाँसी, बुखार और सांस लेने की तकलीफ हो गई। जांच में पता चला कि उसे कोरोना का संक्रमण है। जो महिला सामान ले कर आई थी वह भी कोरोना संक्रमित पायी गई।

खाने के साथ शरीर में गया कोरोना

डाक्टरों का कहना है कि जो महिला समान ले कर आई थी उसे पहले से कोरोना संक्रमण था। जो थैले और पैकेट उसने छूये उसमें वायरस पहुँच गया। जब वृद्ध महिला ने थैलों को खोला होगा तब वायरस ने उसको संक्रमित कर दिया होगा।

ये भी पढ़ें

मध्य प्रदेश: इंदौर में कोरोना से दो और मौतें, अब तक 32 की गई जान

चीन में आए थे ऐसे मामले

वुहान में डाक्टरों के पास ऐसे केस भी आए जिसमें अपार्टमेंट की लिफ्ट का बटन दबाने मात्र से कोरोना का संक्रमण हो गया था। यूनियन हॉस्पिटल के डाक्टरों ने अपनी स्टडी में पाया कि ऐसे मरीज पाये गए जो सब एहतियात बरत रहे थे लेकिन अन्जाने में अपने अपार्टमेंट के गेट, लिफ्ट, डिलीवरी पैकेज आदि छूने से संक्रमित हो गए। इसके अलावा जूतों के जरिये भी वायरस अपने घर या आफिस में ले आए थे।