कोरोना वायरस

देश में कोरोना का पहला केस मिलने के बाद 101 दिन का समय पूरा हो चुका है और पूरा देश इन दिनों एकजुट होकर इस वायरस के खिलाफ संघर्ष में जुटा है।

डॉक्टर गुलेरिया का कहना है कि अस्पतालों ने लॉकडाउन में अपनी तैयारी कर ली है। डॉक्टर्स को प्रशिक्षण दे दिया गया है। पीपीई किट्स, वेंटिलेटर और जरूरी मेडिकल उपकरणों के इंतजाम हुए हैं। कोरोना की जांच बढ़ी है। यह सभी कुछ सकारात्मक है।

वैज्ञानिक म्यूटेशन की प्रक्रिया को सिरे से खारिज भी नहीं कर रहे हैं। उनका कहना है कि इसी से पता चलेगा कि कोरोना वायरस का ख़तरा बढ़ रहा है या घट रहा है। प्रतिरोधी क्षमता विकसित होगी या नहीं। वैक्सीन और दवाओं को तैयार करने में जुटे वैज्ञानिकों के लिए इस पर हो रही शोध सकारात्मक नतीजे लाने में मददगार हो सकती है।

इसी बीच साबरमती एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन 09313 अहमदाबाद से जौनपुर तक उप्र और बिहार के 1250 प्रवासी मजदूरों को लेकर सोमवार 4 मई को रात्रि में लगभग एक बजे के आसपास पहुंची, ट्रेन से आये मजदूरों ने जो बयान किया और साक्ष्य दिखाया तो सरकार के दावे पूरी तरह से झूठे साबित हो गये है।

देश के युवा वैज्ञानिकों की टीम ने एक ऐसी जांच किट तैयार की है जो काफी सस्ती भी है और बहुत जल्दी कोरोना वायरस की पहचान करके रिपोर्ट देने में सक्षम है।

रेड जोन और ऑरेंज जोन के सबसे संवेदनशील इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाएगा। किस इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित करना है, ये फैसला जिला प्रशासन लेगा। इन इलाकों में रहने वाले सभी लोगों को अनिवार्य रूप से आरोग्य सेतु ऐप डाइनलोड करना होगा।

दुनिया भर में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के बाद अब हर कोई यह जानना चाहता है कि आखिर दुनिया से इस वायरस का खात्मा कब तक होगा। दुनिया भर में कोरोना के बढ़ते केसों के बीच एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि यह वायरस इतनी जल्दी इंसानों का पीछा नहीं छोड़ने वाला है।

केंद्रीय विद्यालय एoएमoसीo सेंटर, लखनऊ कैंट के नवीं क्लास के इन स्टूडेंट्स ने यह लाजवाब प्रेरणादायक वीडियो अपने-अपने घरों में रहकर बड़ी कुशलता से तैयार किया है। इस वीडियो में दिखाई पड़ रहे छात्र-छात्राओं के नाम श्रीपर्णा तिवारी, स्नेहा सिंह, अदिति सिंह, हर्ष कापड़ी, मुस्कान चौरसिया, ईशा चौहान आदि छात्रों ने अपना सहयोग किया है

उत्तर प्रदेश के सिंचाई सचिव टी वेंकटेश को जब से उत्तर प्रदेश सरकार ने मेरठ का नोडल अधिकारी बनाया है तभी से लगातार उत्तर प्रदेश के सिंचाई सचिव जनपद मेरठ में जगह-जगह जाकर निरीक्षण कर रहे हैं, साथ ही लगातार मेरठ जनपद के अधिकारियों से भी बैठक कर कोरोना महामारी से बचाव के बारे में महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं।

एटा जनपद के ब्लाक शीतलपुर के ग्राम वाहनपुर क्षेत्र के 2 किलोमीटर एरिया के गांवों को हाॅटस्पाट घोषित कर आने जाने पर रोक लगा दी गई है। इसीक्रम में बीते दिनों अवागढ क्षेत्र के ग्राम  गनेशपुर में दो पुरुष तथा मारहरा के ग्राम ओरनी में एक महिला सहित तीन कोरोना पोजिटिव पाये गये थे।