Top

Coronavirus: कोरोना के मामलों में गिरावट, लेकिन खतरा अभी बरकरार, रहना होगा सतर्क

Coronavirus: कोरोना के मामलों में कमी आई है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि वायरस अब कमजोर हो गया है। इसका मतलब ये भी हो सकता है कि वायरस अब म्यूटेंट कर रहा है

Neel Mani Lal

Neel Mani LalWritten By Neel Mani LalShreyaPublished By Shreya

Published on 20 July 2021 10:13 AM GMT

Coronavirus: कोरोना के मामलों में गिरावट, लेकिन खतरा अभी बरकरार, रहना होगा सतर्क
X

(कॉन्सेप्ट फोटो- न्यूजट्रैक)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Coronavirus: कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से घटे हैं। 19 जुलाई को 30,093 नए मामले सामने आए जिनको मिला कर देश में कुल संक्रमितों की संख्या 3,11,74,322 हो गई है। इनमें से 4,14,482 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। कोरोना के मामलों में तेज गिरावट आई थी लेकिन कुछ हफ़्तों से देश में मामले 40,000 के आसपास बने हुए थे। मौतों की संख्या भी 500 से ज्यादा बनी हुई थी।

कोरोना संक्रमण के मामलों के साथ टेस्टिंग की स्थिति को देखें तो आईसीएमआर (ICMR) की वेबसाइट के अनुसार 19 जुलाई को 17,92,336 टेस्ट किये गए। राज्यवार कितने टेस्ट किये गए ये जानकारी नहीं दी गयी है। आबादी के अनुपात से कुल टेस्टिंग को देखें तो ये काफी कम है।

संक्रमण के मामलों में कमी का मतलब ये नहीं है कि वायरस अब कमजोर हो गया या गायब हो रहा है। कम मामलों का मतलब ये भी हो सकता है कि वायरस अब म्यूटेंट कर रहा है और किसी अन्य स्वरूप में सामने आ सकता है जैसा कि इस साल के पहले चार महीनों में देखा गया। सरकार और एक्सपर्ट्स, सभी लगातार चेतावनी दे रहे हैं कि कोरोना की तीसरी लहर (Coronavirus Third Wave) से सबको बहुत सावधना रहने की जरूरत है।

कोरोना वायरस किस समय क्या रंग बदलेगा ये कोई वैज्ञानिक अनुमान नहीं लगा सकता है। एक्सपर्ट्स का कहना है ये समय अत्यधिक सतर्कता बरतने का है। अभी देश में वैक्सीनेशन चल ही रहा है और बड़ी आबादी का कवरेज होना बाकी है। इन स्थितियों में मास्किंग (Masking), सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing), सैनिटाइज़ेशन (Sanitization) का पूरा ख्याल रखा जाना चाहिए। सरकार द्वारा दी गयी ढील का ये मतलब एकदम नहीं निकाला जाना चाहिए कि वायरस कहीं से कमजोर पड़ गया है।

कोरोना की जांच कराता युवक (फोटो- न्यूजट्रैक)

तीसरी लहर की शुरूआती स्टेज

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस घेब्रेयेसस (Tedros Adhanom) ने मौजूदा ग्लोबल स्थिति के मद्देनजर कहा है कि दुनिया के बहुत से हिस्सों मों कोरोना की तीसरी लहर का शुरूआती दौर चल रहा है। उन्होंने कहा कि वायरस लगातार बदल रहा है और इसके परिणामस्वरूप अधिक संक्रामक हो गया है। घेब्रेयेसस ने कहा कि डेल्टा वायरस अब 111 देशों में फ़ैल चुका है और अब संभावना है कि पूरी दुनिया में ये प्रमुख स्ट्रेन बन जाएगा।

इजरायल में गंभीर मामले बढ़ रहे

इजरायल ने अपने यहां सघन वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) किया है लेकिन डेल्टा वायरस ने हालात बिगाड़ दिए हैं। इजरायल के स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के अनुसार, देश में पॉजिटिवटी दर 1.7 हो गयी है। गंभीर रूप से बीमार मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही और मौतें भी ज्यादा दर्ज की जा रही हैं। इजरायल ने फाइजर की तीसरी बूस्टर डोज़ लगानी शुरू की थी लेकिन अब कैंसर जैसी बीमारी से ग्रसित ऐसे लोगों, जिनकी इम्यूनिटी कमजोर है उनको तीसरी डोज़ लगानी बंद कर दी है।

(फोटो- न्यूजट्रैक)

भारत में सबसे अधिक प्रभावित राज्य

सबसे अधिक प्रभावित राज्यों की बात करें तो महाराष्ट्र में अब तक 62,20,207 लोगों को संक्रमित पाया जा चुका है और 1,27,097 लोगों की मौत हुई है। केरल में अब तक 31,70,868 लोगों को संक्रमित पाया गया है और 15,408 मौतें हुई हैं। 28,85,238 मामलों और 36,197 मौतों के साथ कर्नाटक और 25,37,373 मामलों और 33,752 मौतों के साथ तमिलनाडु अगले दो सबसे अधिक प्रभावित राज्य हैं।

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक, दुनियाभर में अब तक लगभग 19.09 करोड़ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, वहीं 40.96 लाख लोगों की मौत हुई है। सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में 3.41 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं और 6.09 लाख लोगों की मौत हुई है। अमेरिका के बाद भारत दूसरा सर्वाधिक प्रभावित देश है। वहीं तीसरे सबसे अधिक प्रभावित देश ब्राजील में 1.94 करोड़ संक्रमितों में से 5.43 लाख मरीजों की मौत हुई है।

चीन में रिकार्ड मामले

चीन ने अभी तक कोरोना महामारी को अच्छे से कंट्रोल करके रखा हुआ है। लेकिन अब वहां जनवरी के बाद से पहली बार बड़ी संख्या में संक्रमण के मामले सामने आये हैं। ये मामले दक्षिण-पश्चिमी युन्नान प्रान्त में सबसे ज्यादा मिले हैं। युन्नान प्रान्त की सीमा म्यांमार से लगी हुई है और म्यांमार में इन दिनों डेल्टा वायरस का जबरदस्त प्रकोप है।

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने बताया है कि मेनलैंड चीन में 19 जुलाई को 65 पुष्ट मामले मिले जबकि 18 जुलाई को 31 मामले मिले थे। ये आंकड़ा 30 जनवरी के बाद से सबसे ज्यादा है जब 92 केस मिले थे। युन्नान के उप राज्यपाल जोंग गुओयिंग ने कहा है कि वे संक्रमण रोकने के लिए 'लोहे की किलाबंदी' कर देंगे।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story