Top

PM मोदी फ्रंट लाइन वॉरियर्स के लिए विशेष क्रैश कोर्स की करेंगे शुरुआत, PMO ने दी जानकारी

पीएम नरेंद्र मोदी योद्धाओं के लिए एक विशेष रूप से तैयार एक क्रैश कोर्स की शुरुआत करेंगे।

Network

NetworkNewstrack NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 16 Jun 2021 3:49 PM GMT

PM मोदी फ्रंट लाइन वॉरियर्स के लिए विशेष क्रैश कोर्स की करेंगे शुरुआत, PMO ने दी जानकारी
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

PM Narendra Modi: देश बीते डेढ़ साल से कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इस लड़ाई में अहम भूमिका निभाई है फ्रंटलाइन वर्कर्स ने। अब इन अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले योद्धाओं के लिए सरकार एक विशेष रूप से तैयार एक क्रैश कोर्स की शुरुआत करने जा रही है। इसकी जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से दी गई है। इस कोर्स की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की जाएगी।

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) द्वारा जारी बयान में बताया गया है कि फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए विशेष रूप से तैयार क्रैश कोर्स के शुरु होने के साथ ही 26 राज्यों में 111 प्रशिक्षण केंद्रों (Training Centers) में इस कार्यक्रम की शुरुआत हो जाएगी। इसके साथ ही ये भी बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे। इस मौके पर कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय भी मौजूद रहेंगे।

क्या है इस कार्यक्रम का मकसद?

पीएमओ ने जारी बयान में कहा है कि इस कार्यक्रम का मकसद देशभर में एक लाख से अधिक कोरोना वॉरियर्स को प्रशिक्षण प्रदान करना है। उन्हें कौशल से लेस करना और कुछ नया सिखाना है। पीएमओ के मुताबिक, इन योद्धाओं को होम केयर सपोर्ट, बेसिक केयर सपोर्ट, एडवांस्ड केयर सपोर्ट, इमरजेंसी केयर सपोर्ट, सैंपल कलेक्शन सपोर्ट और मेडिकल इक्विपमेंट सपोर्ट जैसे कार्यों से जुड़ी भूमिकाओं के बारे में ट्रेनिंग दी जाएगी।

इस कार्यक्रम को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना तृतीय के केंद्रीय घटक के तहत तैयार किया गया है। इस कार्यक्रम पर कुल 276 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसके जरिए हेल्थ सेक्टर में वर्तमान और भविष्य की श्रमशक्ति की जरुरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी।

दिल्ली सरकार ने किया ये एलान

आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली में पांच हजार युवकों को स्वास्थ्य सहायकों के रूप में प्रशिक्षित करने का एलान किया है। जाहिर है कि इस वक्त देश कोरोना की दूसरी लहर का सामना करने रहा है, इस बीच वैज्ञानिकों और डॉक्टरों द्वारा लगातार तीसरी लहर को लेकर भी लगातार चेतावनी दी जा रही है। ऐसे में कई राज्यों में अभी से तीसरी लहर को लेकर अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story