न्यूजीलैंड करेगा श्रीलंका के खिलाफ विश्व कप अभियान का आगाज

छह बार सेमीफाइनल में हारने के बाद न्यूजीलैंड 2015 में विश्व कप फाइनल में पहुंचा लेकिन आस्ट्रेलिया ने उसका खिताब जीतने का सपना तोड़ दिया।

लंदन: चार साल पहले उपविजेता रही न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम विश्व कप में अपने अभियान का आगाज खराब फार्म से जूझ रही श्रीलंका के खिलाफ शनिवार को कार्डिफ में करेगी।

छह बार सेमीफाइनल में हारने के बाद न्यूजीलैंड 2015 में विश्व कप फाइनल में पहुंचा लेकिन आस्ट्रेलिया ने उसका खिताब जीतने का सपना तोड़ दिया।

ये भी देंखे:समान नागरिक संहिता पर दिल्ली हाईकोर्ट का केंद्र सरकार को नोटिस

उसके बाद ब्रेंडन मैकुलम की जगह केन विलियमसन कप्तान बनाये गए लेकिन 2015 की टीम में ज्यादा बदलाव नहीं हुआ है। पिछले विश्व कप के बाद से न्यूजीलैंड विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंचा लेकिन दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और भारत ने उसे उसकी धरती पर हराया।

विश्व कप से पहले अभ्यास मैच में न्यूजीलैंड ने भारत को हराया लेकिन दूसरे मैच में वेस्टइंडीज से हार गया।

न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज जेम्स फ्रेंकलिन को यकीन है कि कीवी टीम पहली बार विश्व कप जीत सकती है।

उन्होंने कहा ,‘‘ न्यूजीलैंड के बारे में कोई बहुत ज्यादा बात नहीं कर रहा है जो अच्छा है। हम अंडरडाग साबित हो सकते हैं। मुझे यकीन है कि यह टीम विश्व कप जीत सकती है।’’

रोस टेलर शानदार फार्म में हैं और पिछले साल 90 से अधिक की औसत से रन बनाये। वहीं विलियमसन और मार्टिन गुप्टिल भी खतरनाक बल्लेबाज हैं। गेंदबाजी में ट्रेंट बोल्ट , कोलिन डि ग्रांडहोमे और टिम साउदी पर दारोमदार रहेगी जबकि स्पिन आक्रमण की जिम्मेदारी ईश सोढी और मिशेल सेंटनेर पर रहेगी।

ये भी देंखे:आंध्र प्रदेश: CM जगनमोहन रेड्डी ने डीजीपी को पद से हटाने का निर्देश दिया

न्यूजीलैंड टीम का पलड़ा 1996 चैम्पियन लेकिन वनडे रैंकिंग में नौवे स्थान पर खिसकी श्रीलंका पर भारी लग रहा है। नये कप्तान दिमुथ करूणारत्ने चार साल बाद वनडे टीम में लौटे हैं और पिछले नौ में से आठ वनडे हार चुकी टीम की जिम्मेदारी उन पर है।

पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने कहा ,‘‘ श्रीलंका विश्व कप में हमेशा अच्छा प्रदर्शन करता है। टीम में कुछ बदलाव हैं। कप्तान ने खुद काफी समय से वनडे क्रिकेट नहीं खेला है लेकिन वह शानदार खिलाड़ी है। टीम में कई मैचविनर हैं और चार पांच मैच जीतकर हम सेमीफाइनल तक पहुंच सकते हैं।’’

(भाषा)