Top

संक्रांति मुबारक ! नमक भरी बोरियों में मिले दो मासूम बच्चियों के शव

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 14 Jan 2018 1:47 PM GMT

संक्रांति मुबारक ! नमक भरी बोरियों में मिले दो मासूम बच्चियों के शव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सीतापुर : पूरा देश संक्रांति के जश्न में डूबा है वहीँ यूपी के सीतापुर जनपद के हरगांव थाना क्षेत्र की शारदा सहायक नहर के पास दो अलग-अलग जगहों से नमक भरी बोरियों में दो मासूम बच्चियों का शव मिलने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह हरगांव थाना क्षेत्र की शारदा सहायक नहर के उमरिया पुल के और कबीरपुर नहर पुलिया के पास नमक की बोरियों में भर कर फेंके गए दो बच्चियों के शव बरामद हुए। काले और भूरे बैग में मिले शव 7 और 10 साल की बच्चियों की है। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है।

ये भी देखें :ग्रेटर नोएडा: छोटे भाई के सामने 7 साल की बच्ची से सिपाही ने किया रेप

पुलिस ने बताया कि एक बोरा हरगांव इलाके के क्यूटीकला गांव स्थित उमरिया पुल के पास तो दूसरी बोरी रक्सा गांव स्थित कबीर पुल के नीचे उतराती मिली। ऐसा प्रतीत होता है कि शव लखीमपुर की ओर से बह कर आया है। पुलिस पड़ोसी जनपद लखीमपुर की पुलिस से सम्पर्क साध कर शवों की पहचान का प्रयास कर रही है।

इस संबंध में एएसपी मधुबन सिंह ने बताया कि शव लखीमपुर सीमा के करीब मिले हैं। पानी के नीचे दबाने के लिए बैग में ईंट और नमक भी डाला गया था। बच्चियों के मुंह पर टेप चिपका हुआ है। गले में रस्सी से खींचे जाने का निशान भी है। ऐसा लगता है की बच्चियों की गला दबाकर हत्या की गई, बाद में दोनों शवों को बैग में छिपाकर शारदा नहर के पास फेंक दिया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story