Top

तीन साल बाद जिस्मफरोशी के चंगुल से रिहा हुई किशोरी, रैकेट संचालिका गिरफ्तार

sujeetkumar

sujeetkumarBy sujeetkumar

Published on 18 Feb 2017 1:09 PM GMT

तीन साल बाद जिस्मफरोशी के चंगुल से रिहा हुई किशोरी, रैकेट संचालिका गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रतापगढ़: 14 साल की एक नाबालिग लड़की का घर में बंधक बनाकर तीन साल तक रेप होता रहा। उसे शहर से महज दो किलोमीटर दूर एक सेक्स रैकेट संचालिका के हाथों बेच दिया गया। किशोरी को दिन रात भूखा रखा जाता था। इतना ही नहीं उसके बीमार होने पर उसका इलाज तक नहीं करवाया गया। छत पर किसी तरह से उसने खुद को बचाने की आवाज लगाई। पास के रहने वाले लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जिससे वह तीन साल बाद देह व्यापार के चंगुल से रिहा हो सकी।

देह व्यापार के दलदल में कैसे गई किशोरी?

जिस्मफरोशी का यह घिनौना खेल प्रतापगढ़ के नगर कोतवाली इलाके के मीरा भवन में चल रहा था।

इसकी संचालिका गायत्री मिश्रा पहले भी सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में चर्चा में रही है।

पलटन बाजार की रहने वाली 14 साल की लड़की को काम दिलाने के बहाने इस संचालिका के हाथों फूलचंद नाम के शख्स ने बेच दिया था। हर दिन संचालिका को पैसे देकर लोग लड़की का बलात्कार करते रहे ।

पीड़िता के मुताबिक

संचालिका के साथ ही उसके साथी भी उसे मारते थे। वह शनिवार की सुबह 10 बजे किसी तरह छत पर निकल गई और जोर- जोर से चिल्लाकर रोने लगी। उसके रोने की आवाज सुन पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी। जिससे वह रिहा हो सकी। पुलिस ने रैकेट संचालिका को हिरासत में लेकर कार्रवाई करने की बात कह रही है।

sujeetkumar

sujeetkumar

Next Story