Top

छेड़छाड़ में पुलिस ने किया अरेस्‍ट, आरोपी बोला- मर्डर कर सकता हूं लेकिन लड़की नहीं छेड़ सकता

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 1 Sep 2018 11:54 AM GMT

छेड़छाड़ में पुलिस ने किया अरेस्‍ट, आरोपी बोला- मर्डर कर सकता हूं लेकिन लड़की नहीं छेड़ सकता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: जिले में शनिवार को छेड़छाड़ के एक आरोपी ने लॉकअप के अन्दर गर्दन रेत ली। पुलिस कर्मियों ने जब खून बहता देखा तो उनके हाथ पैर फूल गए। पुलिस ने फ़ौरन उसे पास के हास्पिटल में भर्ती कराया, जहां उसका प्राथमिक उपचार करके हैलट अस्पताल रेफर किया गया है। आरोपी पुलिस के सामने सीना ठोंक कर घायल अवस्था में बोला कि विकास उर्फ़ मैडी मार सकता है, लेकिन लड़की नही छेड़ सकता है। यह सुनकर सभी पुलिसकर्मी और डाक्टर हैरान रह गए।

ये है पूरा मामला

गोविन्द नगर थाना क्षेत्र स्थित महादेव नगर में रहने वाले विकास के छोटे भाई विक्रम ने पास में रहने वाली नेहा नाम की लड़की से लव मैरिज की थी। विक्रम ने यह लव मैरिज बीते 25 नवम्बर को की थी। विक्रम के ससुर राजकुमार इस शादी के विरोध में थे। राजकुमार ने विक्रम और मैडी पर आरोप लगाया कि दोनों भाइयों ने मेरी छोटी बेटी नेहा के साथ छेड़छाड़ की है।

पुलिस इस मामले में विक्रम और मैडी को पकड़ कर थाने लायी थी। पुलिस तीन दिनों से दोनों भाइयो को थाने में बैठकर रखे थी। पास्को एक्ट में दोनों भाइयो पर मुकदमा भी दर्ज था। लेकिन पुलिस इन्हें जेल नहीं भेज रही थी जबकि इस मामले में नाबालिग नेहा के बयान भी दर्ज हो चुके हैं।

वहीं मैडी का कहना है कि रतन लाल नगर चौकी इंचार्ज भूपेंद्र ने राजकुमार से पैसे लेकर मुझ पर मुकदमा दर्ज किया है। मैं मर और मार सकता हूँ लेकिन किसी बच्ची के साथ छेड़छाड़ नहीं कर सकता हूँ। मुझे चौकी इंचार्ज चार दिनों से लॉकअप में रख कर प्रताड़ित कर रहा था। मुझे जातिसूचक बातें कह कर आज भी लॉकअप की सफाई कराई। उसी दौरान मुझे एक ब्लेड मिल गयी और उसी ब्लेड से गर्दन रेत ली।

सीओ बोले- मामले में चल रही विवेचना

गोविन्द नगर सीओ आर के चतुर्वेदी के मुताबिक छेड़छाड़ के मामले में इसे लाया गया था। इसने ब्लेड से गर्दन पर वार किया है। रिश्तेदारों द्वारा ही छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया था। जिसकी विवेचना रतन लाल नगर चौकी इंचार्ज कर रहे थे। हालांकि लॉकअप के अन्दर ब्लेड कहां से आयी और तीन दिन से उसे थाने में क्यों बैठकर रखा है, इसकी जाँच की जाएगी।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story