Top

Agra Crime News: पैसों के लिए कर दी दोस्त की हत्या, कोविड मरीज बता कर किया अंतिम संस्कार

दो करोड़ की फिरौती वसूलने के लिए आरोपी प्लानिंग के तहत 21 जून को सचिन को अपनी कार से लेकर न्यू आगरा थाना क्षेत्र में स्थित बंद पड़े वाटर प्लांट पर पहुंचे। पुलिस के मुताबिक वाटर प्लांट पर सभी ने शराब पी। इसके बाद आरोपियों ने लेमिनेशन पेपर से सचिन का मुंह बांध कर उसे मौत की नींद सुला दिया।

Rahul Singh

Rahul SinghWritten By Rahul SinghPallavi SrivastavaPublished By Pallavi Srivastava

Published on 28 Jun 2021 10:28 AM GMT

Agra Crime News: पैसों के लिए कर दी दोस्त की हत्या, कोविड मरीज बता कर किया अंतिम संस्कार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Agra Crime News: आगरा से दोस्ती को तार-तार करने का मामला आया है। यहां कत्ल की घटना की साजिश ऐसे रची गयी मानो कोई फिल्म का सीन चल रहा हो। पांच लोगों ने मिलकर अपने ही दोस्त की हत्या कर दी। पिता से 2 करोड़ वसूलने के लिए दोस्त को मौत के घाट उतार दिया। और तो और फिल्मी तर्ज पर घटना को अंजाम देने के बाद शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया वो भी कोविड मरीज बताकर। इकलौते बेटे की तलाश कर रहे घरवालों ने गुमशुदगी की रिर्पोट संबंधित थाने में लिखवाई तो पुलिस जांच में जुट गयी। और हत्या का पूरा सच बाहर निकल कर सामने आ गया। बेटे को खो चुके मां बाप का रो-रो कर बुरा हाल है।

पुलिस की गिरफ़्त में आरोपी pic(social media)

ये है पूरी घटना

दो करोड़ की फिरौती वसूलने के लिए दोस्त कातिल बन गया। कत्ल की ऐसी खौफनाक साजिश रची कि घर वालों को बेटे की राख तक नहीं मिल पाई ।पुलिस ने वारदात का खुलासा करते हुए वारदात में शामिल 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयुक्त कार, नगदी और अन्य सामान बरामद किया है। पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपियों ने पेशेवर अंदाज में युवा कारोबारी सचिन चैहान की हत्या की साजिश रची। साजिश में सचिन चैहान का सबसे करीबी दोस्त सुमित और सचिन के चचेरे भाई हर्ष चैहान ने अहम भूमिका निभाई है। प्लानिंग के तहत 21 जून को सुमित ने फोन करके सचिन को घूमने के लिए बुलाया। दोपहर 3रू30 बजे सचिन अपनी मम्मी से चैराहे तक जाने की बात बोल कर घर से निकला। और अब तक फिर कभी घर वापस नहीं लौटा। वारदात की रात सुमित के पिता सुरेश चैहान और मां, सचिन के नंबर पर फोन करते रहे। लेकिन सचिन से उनकी बात नहीं हो पाई। अगले दिन 22 जून को परिवार के लोग थाना न्यू आगरा पहुंचे। और सचिन की गुमशुदगी थाने में दर्ज करा दी। पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू की। और कॉल डिटेल खंगाली तो पता चला कि सचिन के फोन पर आखरी कॉल सुमित ने की थी। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए सुमित और हर्ष चैहान से पूछताछ की तो वारदात का खौफनाक सच पुलिस के सामने आ गया। पुलिस के सामने आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्हें सचिन चैहान के पिता से दो करोड़ रुपए की फिरौती वसूलनी थी। इसलिए उन्होंने पहले से ही सचिन की हत्या की प्लानिंग कर ली थी। आरोपी प्लानिंग के तहत 21 जून को सचिन को अपनी कार से लेकर न्यू आगरा थाना क्षेत्र में स्थित बंद पड़े वाटर प्लांट पर पहुंचे। पुलिस के मुताबिक वाटर प्लांट पर सभी ने शराब पी। इसके बाद आरोपियों ने लेमिनेशन पेपर से सचिन का मुंह बांध कर उसे मौत की नींद सुला दिया।

कोविड मरीज बताकर किया अंतिम संस्कार

सुमित की हत्या करने के बाद आरोपियों ने दूसरी कार और पीपीई किट मंगाई। प्लानिंग के तहत आरोपियों ने सचिन की डेड बॉडी को पीपीई किट पहनाई और वैन से सचिन की डेडबॉडी लेकर बलकेश्वर श्मशान घाट पहुंचे। बल्केश्वर घाट शमशान पर आरोपियों ने रवि वर्मा के नाम की पर्ची कटाई। और कोविड-19 मरीज बताते हुए सचिन चैहान का बल्केश्वर घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया। सचिन का अंतिम संस्कार करने के बाद वारदात में शामिल मनोज बंसल सचिन का फोन लेकर रोडवेज की बस से कानपुर हाईवे की तरफ निकल गया। और उसने सचिन के फोन को रास्ते में फेंक दिया। पुलिस ने सचिन के फोन की सीडीआर लोकेशन ट्रेस कराई तो मनोज बंसल पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने पूछताछ की तो वारदात का सच सामने आ गया । एसएसपी आगरा ने बताया कि वारदात में शामिल पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वारदात में प्रयुक्त कार और सामान बरामद कर लिया गया है। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

आरोपी का कबूल नामा

पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी सुमित ने बताया कि सचिन ने उससे ₹4000000 उधार लिए थे। सचिन के चचेरे भाई हर्ष ने उसे कहा कि अगर वह सचिन को किडनैप करके मार देते हैं तो उन्हें दो करोड़ की फिरौती मिल जाएगी। वह सुमित को 7500000 रुपए देगा। प्लानिंग के तहत आरोपियों ने मिलकर सचिन का मर्डर कर दिया। आरोपी सुमित बड़ा एक्सपोर्ट कारोबारी है। और कुछ समय पहले ही चीन से लौट कर वापस आया है ।

पिता ने इकलौते बेटे के लिए बनवाई थी आलीशान कोठी

सचिन की हत्या के बाद उसके माता-पिता का रो रो कर बुरा हाल है। माता पिता, इकलौते बेटे की हत्या के बाद गहरे सदमे में है। माता पिता ने इकलौते बेटे सचिन को बड़े लाड प्यार से पाला था। उसकी हर ख्वाहिश को पूरा किया था। बेटे के लिए सुरेश चैहान ने दयालबाग की पॉश कॉलोनी जय राम बाग में आलीशान कोठी बनवाई थी। पिछले साल बीबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद सचिन चैहान कारोबार में पिता का हाथ बटा रहा था। बेटे की मौत ने सचिन के माता-पिता को गहरा सदमा दिया है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story