Top

बड़े भाई से थी दुश्मनी, शिकार किया छोटे का...दे दी दर्दनाक मौत

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Dec 2017 3:01 PM GMT

बड़े भाई से थी दुश्मनी, शिकार किया छोटे का...दे दी दर्दनाक मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच : तिलखवा गांव के बाहर पुआल के ढेर में आठ दिन पहले आठ साल के अखिलेश की क्षत विक्षत लाश मिली थी। पयागपुर पुलिस ने शनिवार को इस हत्याकांड का खुलासा किया है। आरोपित हत्यारे को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, अखिलेश को मौत की सजा सिर्फ इसलिए दी गई, क्योंकि उसने आरोपित की भतीजी को भाभी कह दिया था। मृतक अखिलेश का बड़ा भाई हत्यारे की भतीजी को पसंद करता था। बलशाली व तंदरुस्त होने के कारण हत्यारे ने अखिलेश के भाई को न चुनकर पूरे परिवार को गहरी चोट देने की मंशा से उसे मौत के घाट उतार दिया। पयागपुर पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है।

पयागपुर थाना अंतर्गत बभिनियावा गांव के मजरा तिलखवा गांव निवासी बैजनाथ का बेटा अखिलेश (8 वर्ष) बीते आठ दिसंबर की सुबह अपने बाबा को चाय देने खेत के लिए घर से निकला था। लेकिन स्कूल का समय हो गया, वह लौटा नहीं। जिस पर घरवालों को चिंता हुई तो उसकी खोजबीन शुरू हुई।

देर शाम गांव के बाहर स्थित बाग में अखिलेश का टायर मिला। वह टायर लेकर खेत गया था। आसपास के खेतों व गांव में परिजनों व ग्रामीणों ने अखिलेश को खूब ढूंढा, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। थक हारकर परिजन घर लौट आये। लेकिन अगले दिन सुबह उसी बाग में धान की पराली (पुआल) के ढेर में अखिलेश का क्षत विक्षत शव मिला था। मृतक अखिलेश के पिता बैजनाथ ने पयागपुर थाने में आईपीसी की धारा 302 व 201 के तहत अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

सीओ रिसिया श्रेष्ठा सिंह व पयागपुर एसओ संजय मिश्रा जांच में जुटे थे। शनिवार सुबह एसओ संजय मिश्रा ने एसआई अखिलेश कुमार, केदारनाथ, नरेंद्र सिंह यादव व सिपाही ललित कुमार के साथ घेराबंदी कर इस प्रकरण के मुख्य हत्यारोपित तिलखवा निवासी टिम्पल उर्फ बैजनाथ पुत्र रामसमुझ को उसके घर से गिरफ्तार किया है। एसपी जुगुल किशोर ने हत्या का खुलासा करने के लिए एएसपी व रिसिया सीओ के निर्देशन में टीम गठित की थी।

सीओ श्रेष्ठा ठाकुर ने बताया कि पूछताछ के बाद हत्यारोपित टिम्पल ने जुर्म कबूल लिया है। बताया कि टिम्पल की भतीजी को अखिलेश का बड़ा भाई पसंद करता था। यह बात अखिलेश को भी पता थी। इसलिए वह कभी कभार युवती को भाभी कह देता था। यह बात टिम्पल को पसंद नहीं थी। वह पूरे परिवार को गहरी चोट देना चाहता था। अखिलेश का बड़ा भाई शरीर से बलशाली व हट्टाकट्टा था। वह उससे भिड नहीं सकता था। इसलिए टिम्पल ने अखिलेश को निशाना बनाया। टिम्पल ने अखिलेश के सिर पर बांस से हमलाकर ईंट से कूंचकर मौत के घाट उतारा था। जिसके बाद उसका शव उसी के बाग में पुआल से छिपा दिया था। पयागपुर पुलिस ने हत्यारे टिम्पल को जेल भेज दिया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story