Top

हापुड़ के इस गांव में जबरदस्‍ती ईसाई बनाने का आरोप, गांव में तनाव बरकरार

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 16 Sep 2018 11:01 AM GMT

हापुड़ के इस गांव में जबरदस्‍ती ईसाई बनाने का आरोप, गांव में तनाव बरकरार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हापुड़: जिले के सिटी कोतवाली क्षेत्र का गांव सरावा एक बार फिर चर्चाओं में है। इस गांव की दलित बस्ती निवासी एक व्यक्ति ने बताया कि करीब आधा दर्जन परिवारों पर ईसाई धर्म अपनाने का आरोप लगाया जा रहा है। जिसका मोहल्ले के दूसरे लोग विरोध कर रहे हैं। इन लोगों ने इनके बहिष्कार का ऐलान किया है। कुल मिलाकर गांव में तनाव की स्थिति है। गांव सरावा की दलित बस्ती में करीब आधा दर्जन परिवार पिछले कुछ महीनों से सप्ताह में एक दिन प्रार्थना करते हैं। इस दौरान बाहर से भी कुछ लोग आते हैं। जो सत्संग के नाम पर इन लोगों को उपदेश देते हैं।

कई माह से चल रहा सिलसिला

आपको बता दें कि कई माह से यह सिलसिला चल रहा है। लेकिन कुछ दिन पहले इन परिवारों ने अपने घर के बाहर क्रास का निशान बना लिया तो मोहल्ले में हंगामा मच गया। मोहल्ले के लोगों ने इन लोगों का बहिष्कार करते हुए इन्हें अपने सार्वजनिक स्थानों का प्रयोग करने पर रोक लगा दी है। इन लोगों का मोहल्ले के लोगों से कोई लेना देना नहीं रह जायेगा। इस स्थिति के चलते मोहल्ले में तनाव व्याप्त है। हालांकि रविवार को जब मीडिया मोहल्ले में पहुंची तो पुलिस भी मौजूद थी। लेकिन मौजूद दरोगा ने मामले को दबाने का प्रयास किया। दरोगा का कहना था कि वे तो सामान्य गस्त पर हैं। पुलिस का कहना है कि गांव में टीम भेजकर जांच करायी गयी है। धर्म परिवर्तन का कोई मामला नहीं है। उधर, जिन परिवारों पर धर्म परिवर्तन का आरोप है, उनका कहना है कि वे सिर्फ शांति के लिए सत्संग करते हैं। उन्होंने धर्म परिवर्तन नहीं किया है। लेकिन कैमरे पर कुछ भी बताने को तैयार नहीं हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story