Top

बाराबंकी : नवविवाहिता की हत्या मामले में हावी हुई पुलिसिया सुस्ती

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 23 Dec 2017 9:36 AM GMT

बाराबंकी : नवविवाहिता की हत्या मामले में हावी हुई पुलिसिया सुस्ती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी : राजधानी लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी के थाना रामनगर इलाके में नवविवाहिता की जला कर हुई हत्या मामले में अब परिजन परेशान होने लगे हैं। स्थानीय पुलिस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही। इससे निराश परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से मिल कर न्याय की गुहार लगाई।

क्या है मामला

बीते 11 दिसंबर को बाराबंकी के थाना रामनगर के रमुआपुर तेलवारी गांव में नवविवाहिता की जल कर मौत हो गई थी। मौत के इस मामले में विवाहिता के भाई ने दहेज मांगने का आरोप लगाते हुए जलाकर हत्या करने का आरोप ससुराल वालों पर लगाया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर छः लोगों के विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज किया था और पति, सास, ससुर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। शेष तीन लोगों की गिरफ्तारी अभी तक नही हुई है। पुलिस के इसी सुस्त रवैये से परेशान विवाहिता के परिजनों ने आज पुलिस अधीक्षक से मिल कर न्याय की गुहार लगाई ।

ये भी देखें : रिश्तेदार बनकर आए दो युवकों ने तहरी खाई और फिर उतार दिया मौत के घाट

विवाहिता के भाई कवीन्द्र ने बताया कि तीन लोगों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस एकदम सुस्त पड़ गई है। ऐसा लगता है कि जैसे पुलिस पर किसी तरह का दबाव पड़ रहा है और पुलिस ने अपने काम मे सुस्ती ला दी है। कवींद्र ने बताया कि लड़की के ससुराल वाले शादी के दिन के बाद से ही एक स्कार्पियो गाड़ी और एक लाख रुपये नगद दहेज की मांग कर रहे थे। कवीन्द्र ने बताया कि अगर पुलिस से उन्हें न्याय नही मिला तो वह मुख्यमंत्री से मिलकर न्याय की गुहार करेंगे।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार सिंह ने बताया कि विवाहिता के भाई ने 11 दिसंबर को एक तहरीर देते हुए बताया था कि उनकी बहन को उसके ससुराल वालों ने दहेज की मांग न पूरी होने पर जला कर मार दिया है। जिसका मुकदमा तहरीर के आधार पर रामनगर थाने में पंजीकृत कराया गया था। मुकदमे में आरोपी विवाहिता के पति, सास, ससुर को तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। शेष तीन लोगों की गिरफ्तारी के प्रयास चल रहे है और साक्ष्यों का संकलन किया जा रहा है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story