जेल में बंद गायत्री प्रजापति को बड़ी राहत, अभी नहीं होगी लोकायुक्त जांच

Published by Published: April 9, 2017 | 9:38 am
Modified: April 9, 2017 | 11:47 am
गायत्री प्रजापति

अमेठी: रेप के आरोप में लखनऊ की जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के लिए चैन की ख़बर है। लोकायुक्त कार्यालय एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ प्रस्तुत शिकायत पर अभी जांच नहीं करेगा।

इस वजह से लगी है रोक
खबरों के अनुसार लोकायुक्त संजय मिश्रा ने छह अप्रैल को नूतन को भेजे पत्र में कहा है कि चूंकि उनके द्वारा इस मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ में याचिका दायर की गई है, जो अभी लंबित है। अत: मामला न्यायालय में लंबित होने के कारण लोकायुक्त द्वारा अग्रिम जांच किया जाना न्यायोचित नहीं है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ : पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति पर धोखाधड़ी का मुकदमा

2014 में प्रस्तुत किया था शिकायत पत्र
इससे पहले नूतन ने लोकायुक्त को प्रजापति के खिलाफ दिसंबर, 2014 में प्रस्तुत शिकायत में नए सिरे से जांच करने का अनुरोध किया था और कहा था कि वह मामले में नए साक्ष्य भी प्रस्तुत करेंगी।

यह भी पढ़ें: गायत्री प्रजापति प्रकरण: पीड़िता ने डिप्टी SP के खिलाफ दर्ज कराया बेटियों के अपहरण का मुकदमा

शिकायत में ये थे आरोप
शिकायत में कहा गया था कि प्रजापति ने पूरे प्रदेश में अवैध खनन के जरिए अपने परिवार के सदस्यों और फर्जी कंपनियों के नाम से अकूत संपत्ति अर्जित की है।