Top

भाजयुमो कार्यकर्ता ने मांगी 25 लाख की रंगदारी, कहा- पैसे नहीं मिले तो जाएगी जान

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 14 July 2018 1:56 PM GMT

भाजयुमो कार्यकर्ता ने मांगी 25 लाख की रंगदारी, कहा- पैसे नहीं मिले तो जाएगी जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: भाजयुमो कार्यकर्ता ने एक व्यवसायी से 25 लाख रूपये की की रंगदारी की मांग की थीl तीन दिन के भीतर रुपये नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दी थीl व्यवसायी ने इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस उस मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाकर आरोपी तक पहुंच गयीl आरोपी को गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया गया है।

चुनाव लड़ना चाहता था आरोपी

जूही विनोबा नगर में रहने वाले प्रदीप बाजपेई भाजयुमो कार्यकर्ता है। प्रदीप का बर्रा में मेडिकल स्टोर है l 2017 के निकाय चुनाव में प्रदीप वार्ड 38 से बीजेपी से पार्षद की टिकट की मांग कर रहा था। लेकिन किन्ही कारणों से उसका टिकट कट गया थीl वह बीजेपी का सक्रिय सदस्य था और लगभग बीजेपी के सभी प्रोग्राम में सम्मिलित रहता थाl

इस व्‍यापारी को दी थी धमकी

गोविन्द नगर थाना क्षेत्र के ओ ब्लाक में रहने वाले व्यसायी शिशिर अग्रवाल के मोबाइल पर बीते 11 जुलाई 2018 एक धमकी भरा फोन आया था। जिसमें उस नंबर से शिशिर अग्रवाल से 25 लाख की रंगदारी मांगी गई थी और कहा गया था कि तीन दिन बाद मेरे दो लड़के तुमसे संपर्क करेंगे। यदि रूपया नहीं मिला तो जान से हाथ धो बैठोगेl इस धमकी भरे फोन के बाद व्यवसायी घबरा गया और उसने इनकी शिकायत गोविन्द नगर पुलिस से कीl

पुलिस ने सर्विलांस की मदद से दबोचा

पुलिस सतर्कता दिखाते हुए उस नंबर को सर्विलांस पर लगा कर प्रदीप बाजपेई तक पहुंच गयी। पुलिस ने प्रदीप को गिरफ्तार कर लिया। सीओ गोविन्द नगर आर के चतुर्वेदी ने बताया कि प्रदीप बाजपेई ने पूछताछ में बताया कि प्रदीप का साथी अंकित है जो जेल में बंद है। अंकित के सिम से प्रदीप ने कई लोगों को फोन कर रंगदारी देने और जान से मारने की धमकी दी थीl इसके साथ उसने पूछताछ में यह भी बताया कि उसे व्यापार में बहुत अधिक घाटा हो गया था। वो लगभग 10 से 12 लाख रुपये के कर्ज में था।

प्रदीप ने सोंचा था कि शिशिर अग्रवाल डर जायेंगे और रूपया दे देंगे तो उस रुपये से उधारी को चुकता कर देगा और जो रूपया बचेगा वो काम में आयेगाl आरोपी की गिरफ़्तारी कर मुकदमा पंजीकृत किया गया है और उसे जेल भेजा जा रहा हैl

sudhanshu

sudhanshu

Next Story