Top

दिन दहाड़े मासूम की हत्‍या से दहला हापुड़, भाई को घायल कर की लूटपाट

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 5 Sep 2018 2:20 PM GMT

दिन दहाड़े मासूम की हत्‍या से दहला हापुड़, भाई को घायल कर की लूटपाट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हापुड़: जिले के देहात थाना क्षेत्र के तगासराय इंद्रगढ़ी मोहल्ले में डेयरी व्यापारी के घर दिनदहाड़े लूटपाट के बाद उसकी नाबालिंग पुत्री की हत्या कर दी। बहन को बचाने आए भाई की भी धारदार हथियार से गर्दन काट दी गई। घटना का पता तब, चला जब खून से लथपथ बालक अपने ताऊ के घर पहुंचा। घर में सामान बिखरा पड़ा था जबकि पुत्री का कोई अता-पता नहीं था। जैसे ही पुलिस महकमे को लूटपाट, अपहरण और जानलेवा हमले की सूचना मिली तो हड़कंप मच गया। आनन फानन में घर से लापता बच्ची की तलाश की गई तो वह भूसे के कमरे में बोरे में अर्द्धनग्न अवस्था में मिली। परिजन ने नब्बे हजार रुपये व जेवरात घर से गायब बताए हैं। फिलहाल पुलिस लूटपाट की घटना से इंकार कर रही है। पुलिस डेयरी संचालक के नौकर को हिरासत में लेकर विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही है।

वारदात के वक्‍त अकेले थे बच्‍चे

तगासराय इंद्रगढ़ी निवासी सोनू यादव डेयरी का कारोबार करते हैं। करीब छह दिन पहले उनकी पत्नी अपने मायके में गई थी। सोनू के तीन बच्चे कक्षा नौ का छात्र हिमांशु, कक्षा चार का छात्र नितिन उर्फ बल्लू व कक्षा सात में पढ़ने वाली पुत्री भूमि हैं। बुधवार दोपहर सोनू यादव खेतों से चारा लेने के लिए चला गया था। घर पर इंद्रगढ़ी निवासी नौकर अंकुर राठौर पशुओं को चारा दे रहा था। जबकि हिमांशु किसी काम से दिल्ली गया था। घर पर पुत्री और नितिन ही मौजूद थे और वह ऊपर के कमरे में बैठे हुए थे। बताया जा रहा है कि दोपहर करीब 12 बजे के आसपास दो व्यक्ति आए और घर में लूटपाट करने लगे। कमरे में मौजूद बच्चों ने विरोध किया तो उनके साथ हाथापाई की और दोनों ने पुत्री को अगवा कर लिया। इस दौरान नितिन ने अपनी बहन को बचाने का प्रयास किया तो उसकी गर्दन पर धारदार हथियार से प्रहार करते हुए दोनों आरोपी पुत्री को अगवा कर ले गए। किसी प्रकार नितिन ऊपर के कमरे से नीचे आया और पड़ोस में रहने वाले अपने ताऊ के घर पहुंच गया। जहां ताऊ के पुत्र ललित यादव ने नितिन को खून से लथपथ देखा तो शोर मचा दिया। शोर सुनकर काफी संख्या में मोहल्ले के लोग जमा हो गए और थोड़ी ही देर में लूटपाट और अपहरण का शोर मच गया। हर तरफ घर से लापता हुई बच्ची की तलाश की गई, लेकिन उसका कुछ पता नहीं लग सका।

नौकर को पुलिस ने हिरासत में लिया

सूचना मिलने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन फानन में अपर पुलिस अधीक्षक राम मोहन सिंह, सीओ सिटी राजेश कुमार सिंह, वरिष्ठ उपनिरीक्षक सुरेंद्र कुमार, स्वॉट टीम प्रभारी रवि रतन अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। जिन्होंने बच्ची की तलाश की और परिजनों से घटना के बारे में पूछताछ की। पुलिस को घर में मौजूद नौकर अंकुर राठौर पर शक हुआ और उससे पूछताछ करते हुए उसे हिरासत में ले लिया गया। दोपहर करीब तीन बजे बालिका का अर्द्धनग्न अवस्था में शव घर में बने भूसे के कमरे में बोरे से बरामद हो गया। जब परिजनों को शव मिलने की जानकारी हुई तो उनमें आक्रोश पनप गया। आनन फानन में मोहल्ले में तनाव बढ़ता देखकर पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस संबंध में एडीजी मेरठ प्रशांत कुमार ने बताया कि मामला लूटपाट का नहीं है। नौकर अंकुर ने ही बच्ची की हत्या की है। जिसे हिरासत में ले लिया गया है।

वहीं अपर पुलिस अधीक्षक राम मोहन सिंह ने बताया कि नौकर से पूछताछ के बाद बच्ची के शव को बरामद कर लिया गया है। घर में लूटपाट जैसी कोई घटना नहीं हुई है। अन्य बिंदुओं पर भी पुलिस जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही अन्य जानकारी मिल सकेंगी।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story