Top

मुस्लिमों के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट डाल बन रहे थे क्रांतिकारी, अब जायेंगे जेल

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 April 2017 12:59 PM GMT

मुस्लिमों के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट डाल बन रहे थे क्रांतिकारी, अब जायेंगे जेल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई : आज के समय में सोशल मीडिया दो धारी तलवार बन कर सामने आया है। यूजर बिना कुछ सोचे कुछ भी पोस्ट कर देते हैं, और उसके बाद इससे जब किसी के दिल को ठेस लगती है। तो वो फिर कानून का सहारा लेता है, और फिर जनाब को भी दिल में दर्द उठता है कि क्यों किया था ऐसा। न करता तो आज ये दिन नहीं देखना पड़ता। कुछ ऐसा ही उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे हरदोई जिले के संडीला सीएससी अधीक्षक के साथ हुआ।

ये भी देखें : तलाक..तलाक..तलाक ने इतना डराया, कि खेरून बन गई ‘खुशबू’

अधीक्षक डॉक्टर शरद के खिलाफ सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने कि रिपोर्ट दर्ज की गई है। सदर अंजुमन इस्लामिया की तरफ से पुलिस को दी तहरीर में उन पर समुदाय विशेष को निशाना बनाकर वर्ग विशेष के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया गया है।

डॉक्टर शरद ने पीएमएचएस हरदोई के नाम से व्हाट्सएप्प ग्रुप बनाया हुआ है। इस ग्रुप में सभी सरकारी डॉक्टर जुड़े हैं, इसी ग्रुप पर संडीला के सीएससी अधीक्षक ने समुदाय विशेष को निशाना बनाते हुए भड़काऊ पोस्ट डाली थी, यह पोस्ट अन्य ग्रुप पर भी वायरल हो गई।

गुरुवार को सदर अंजुमन इस्लामिया मोहम्मद खालिद ने शहर कोतवाली में तहरीर देकर अधीक्षक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराने कि मांग की है जिसमें डॉक्टर शरद पर एक समुदाय के लोगों के संबंध में आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया है।

कोतवाल कमलेश नारायण पांडे ने बताया कि आईटी एक्ट के तहत संडीला के सीएससी अधीक्षक डॉक्टर शरद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। मामले की पड़ताल कर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story