Top

योगी जी! आपका शहर ही नहीं हो पाया भ्रष्‍टाचार मुक्‍त, पांच हजार की रिश्‍वत लेते पकड़ा गया अधिकारी

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 20 Aug 2018 2:20 PM GMT

योगी जी! आपका शहर ही नहीं हो पाया भ्रष्‍टाचार मुक्‍त, पांच हजार की रिश्‍वत लेते पकड़ा गया अधिकारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: योगी सरकार ने सत्‍ता में आते ही भ्रष्‍टाचार मुक्‍त प्रदेश का वादा किया था। लेकिन यहां तो सीएम का गृह जनपद ही भ्रष्‍टाचार मुक्‍त नहीं हो पाया है। सोमवार को एंटी करप्‍शन डिपार्टमेंट ने श्रम विभाग के अधिकारी को रिश्‍वत लेते रंगे हाथ अरेस्‍ट किया है।

ये है पूरा मामला

जिले के हरपुर, गोला स्थित मिठाई की दुकान के मालिक तेज बहादुर पाल ने दो दिन पहले एंटी करप्शन डिपार्टमेंट से शिकायत की थी कि कौड़ीराम श्रम विभाग में कार्यरत वरिष्ठ सहायक यशवंत सिंह लगातार उसकी दुकान पर आकर 5000 की मांग कर रहे हैं। पैसा न देने पर कार्यवाही की धमकी दे रहे हैं। मिठाई की दुकान पर बच्चे काम कर रहे थे। इसलिए यशवंत सिंह दुकानदार पर लगातार सुविधा शुल्क देने का दबाव बना रहे हैं।

आरोपी के खिलाफ दर्ज हुआ केस

सोमवार को एंटी करप्शन डिपार्टमेंट की टीम के प्रभारी एसीओ जेपी पांडे के नेतृत्व में डीएम द्वारा सीएमओ ऑफिस से नामित किए गए दो गवाहों डॉ ओपीजी राव और के के श्रीवास्‍तव को लेकर भ्रष्ट अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही करने में जुट गए। इसके बाद दुकानदार ने श्रम विभाग में कार्यरत यशवंत सिंह को फोन करके पैसा देने की पेशकश की। जिस पर यशवंत सिंह ने आरटीओ स्थित एक पान की दुकान पर पैसा देने कहा। लेकिन उसके बाद दोबारा फोन करने पर वह स्वयं घूस की रकम लेने आरटीओ कार्यालय के पास पहुंच गए। जैसे ही दुकानदार ने पांच हजार नगद उन्‍हें दिए, वह घूस लेते हुए रंगे हाथों एंटी करप्शन डिपार्टमेंट की चपेट में आ गए। एंटी करप्शन विभाग द्वारा गिरफ्तार किए गए यशवंत सिंह को कैंट थाने लाया गया। जहां आगे की कार्यवाही पूरी करते हुए अभियुक्त के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज करने की तैयारी चल रही है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story