Top

मंदसौर दुष्कर्म मामला: दोनों आरोपी दोषी करार, कुछ ही देर में सजा का ऐलान

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 21 Aug 2018 9:08 AM GMT

मंदसौर दुष्कर्म मामला: दोनों आरोपी दोषी करार, कुछ ही देर में सजा का ऐलान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मंदसौर: मंदसौर में आठ वर्षीय बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पॉक्सो एक्ट की विशेष अदालत दोनों दरिदों आसिफ और इरफान को दोषी करार दे चुकी है। मंगलवार को अदालत सजा पर फैसला सुनाएगी। कोर्ट दोपहर 3 बजे बाद आसिफ पिता जहीर खां और इरफान पिता जुल्फिकार मेव पर अपना फैसला सुनाएगी, जिसका हर किसी को इंतजार है।

यह था पूरा मामला

26 जून 2018 की शाम 5.30 बजे हाफिज कॉलोनी स्थित विद्यालय से 8 वर्षीय बालिका का अपहरण कर आसिफ और इरफान लक्ष्मण दरवाजे के पास जंगल में ले गए थे। जहां बालिका के साथ दुष्कर्म किया और उसका गला चाकू से रेंत कर मृत समझकर वहां से फरार हो गए थे। 27 जून को दोपहर में बालिका लड़खड़ाते हुए बाहर आई थी। पुलिसकर्मी उसे जिला अस्पताल लाए। यहां से प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने बालिका को इंदौर रेफर कर दिया था। बालिका का अभी इंदौर में उपचार चल रहा है।

ये भी पढ़ें...मंदसौर जा रहे हार्दिक पटेल गिरफ्तारी के बाद रिहा

फैसले से पहले डरे हुए थे दोनों दरिन्दे

फैसले के एक दिन पहले सोमवार की रात में दोनों दरिंदों के चेहरों पर सजा की आशंका के चलते डर साफ देखा गया। सूत्रों की मानें, तो सोमवार की सुबह से ही दोनों आरोपियों के चेहरे पर सजा को लेकर बैचेनी थी। शाम को करीब साढ़े छह बजे से सात बजे के बीच दोनों आरोपियों को खाना दिया गया। लेकिन सजा के डर से आरोपियों ने कम खाना खाया। उसके बाद दोनों अपने बैरक में भी बेचौन नजर आए। देर रात तक आरोपी कभी बैरक में खड़े हो इधर-उधर घूमते रहे, तो कभी करवटे बदलते रहे।

ये भी पढ़ें...मंदसौर रेप कांड: पूरी प्लानिंग के साथ दरिंदों ने की हैवानियत, हुए कई खुलासे

एक माह और नौ दिन में आएगा फैसला

जानकारी के अनुसार पुलिस द्वारा इस मामले में 12 जुलाई 2018 को न्यायालय में चार्जशीट पेश की थी। 30 जुलाई से इस मामले में सुनवाई शुरू हुई जो 8 अगस्त तक चली। अभियोजन ने करीब 37 गवाहों को पेश किया था। 14 अगस्त को अंतिम बहस हुई थी। न्यायाधीश ने 21 अगस्त को फैसले के लिए तारीख दी है। इस प्रकरण में 115 दस्तावेज साक्ष्य पेश किए गए हैं।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story