×

शाहजहांपुरः प्रेमिका की चाहत में पहले बना भक्त फिर बन गया चोर

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 17 Nov 2018 1:37 PM GMT

शाहजहांपुरः प्रेमिका की चाहत में पहले बना भक्त फिर बन गया चोर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर। यहां 17 दिन पहले थाने से दस कदम की दूरी पर हुइ चोरी की घटना का पुलिस ने चौकाने वाला खुलासा किया है। चोरी की घटना को अंजाम पङोस के रहने वाले एक शख्स ने अपने तीन साथियो के साथ मिलकर दिया।

आठ दिन तक करता रहा भक्तों की सेवा

चोरी की घटना को अंजाम देने के लिए चोर ने आठ दिन तक घर के अंदर रैकी की। घर के अंदर आठ दिन तक रामकथा हुई। जिसमे चोर आठ दिन तक भक्तों की सेवा करता रहा और जब आठ दिन बाद परिवार तीर्थयात्रा पर गया उसके बाद चोरी की घटना को अंजाम दिया गया। घर के अंदर रखी चालिस हजार रूपए की नकदी और लाखो रूपये के जेवरात चोरी हुए थे। पकङे जाने के बाद चोर बताया कि अपनी गर्लफ्रेंड की जरूरत और पहले से चल रहे मुकदमे मे होने वाले खर्च को पूरा करने के लिए चोरी की घटना को अंजाम दिया था। फिलहाल पुलिस ने चोर की निशानदेही से चोरी हुआ जेवर बरामद कर दो चोरो को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दो चोर अभी फरार है।

कथा के दौरान ही भक्तों की सेवा के साथ कर ली रेकी

घटना थाना जलालाबाद के दस कदम की दूरी पर हरिओम के घर की है। 1 नंबर की रात हरिओम अपने परिवार के साथ बनारस तीर्थयात्रा पर गया था। यात्रा से पहले हरिओम ने घर मे आठ दिन तक रामकथा करवाई थी। रामकथा को सुनने के लिए इलाके के कई लोग वहां आते थे। तभी पङोस का रहने वाला सोनू हरिओम के घर होने वाली रामकथा मे जाता था। और रामकथा मे आने वाले भक्तों को चाय पानी पिलाकर उनकी सेवा करता था। सोनू उसके घर मे आते आते घर के कोने कोने की रैकी की थी। जिसमे उसको ये पता चल चुका था कि नकदी और ज्वैलरी कहा कहां पर रखी हुइ है।

घर को खाली पाकर साथियों के साथ चोरी को दिया अंजाम

1 नंबर की रात रामकथा खत्म होने के बाद पूरा परिवार इलाके के लोगो के साथ बनारस तीर्थयात्रा पर चला गया था। इधर सोनू घर की पूरी रैकी कर चुका था। तभी घर को अकेला पाकर 17 नंबर की रात सोनू अपने साथी श्यामवीर, रजनीश, और जितेंद्र के साथ हरिओम के घर को निशाना बनाया। जिसमे घर के अंदर रखे चालिस हजार रुपये और कमरे मे रखी लाखो की ज्वैलरी पर हाथ साफ कर दिया। हालांकि परिवार जब तीर्थयात्रा से घर लौटा तो उसको वह चोरी की घटना से काफी परेशान हो गया। हालांकि पुलिस की पूछताछ मे पीङित ने पङोसी सोनू पर शक जताया। जिसके बाद पुलिस ने सोनू को पकङने की कोशिश की लेकिन वह चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद जिले से फरार हो गया।

एसपी एस चिनप्पा के मुताबिक शक होने के बाद सोनू की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच और थाने की टीम को लगाया गया। सोनू की गिरफ्तारी होने के बाद उसने चोरी की घटना के बारे खुलासा किया। आरोपी सोनू के मुताबिक उसने रामकथा के बहाने भक्तों की सेवा की और उसके घर की रैकी करते रहे। उसके बाद अपने साथियों के साथ घटना को अंजाम दिया। पूछताछ मे बताया कि उसका पहले से एक मुकदमा चलता है। मुकदमे खर्च होने वाले पैसे हमारे पास नही होते थे। मेरी एक गर्लफ्रेंड भी है उसका भी खर्च काफी ज्यादा होता था। उसी खर्च को पूरा करने के लिए ही हमने चोरी की घटना को अंजाम दिया था। नकद चालिस हजार रुपये तो मेरे घूमने फिरने मे खतम हो गए थे। बाकी ज्वैलरी पुलिस ने बरामद कर ली है।

एसपी एस चिनप्पा का कहना है कि चोरी की घटना को अंजाम देने वाले चार लोग थे। जिसमे से दो को गिरफ्तार कर लिया है। अभी दो चोर फरार है। जिनको गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

राम केवी

राम केवी

Next Story