Top

चोरी के आरोप में दलित दिव्यांग को दबंगों ने पीटा, वीडियो की वायरल

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 12 March 2018 4:35 PM GMT

चोरी के आरोप में दलित दिव्यांग को दबंगों ने पीटा, वीडियो की वायरल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हापुड़ : यूपी के जनपद हापुड़ के थाना सिम्भावली क्षेत्र के गांव देवली में तीन युवकों ने दो युवकों पर चोरी का आरोप लगाते हुए उन्हें बंधक बना लिया। आरोपियों ने दोनो युवकों में से एक दिव्यांग दलित युवक अनिल को हाथ बांधकर लटका दिया और मुंह में कपड़ा ठूंस लाठी डंडो से जमकर पीटा। दिव्यांग दलित युवक खुद को बेगुनाह बताता रहा और दबंगो से भीख मांगता रहा लेकिन दबंगो ने उसकी एक ना सुनी। इतना ही नही दबंगो ने तालिबानी फरमान सुनाते हुए दिव्यांग युवक के बायें हाथ का अंगूठा भी काट लिया। इस दौरान एक आरोपी ने इस दरिंदगी का वीडियो भी बना लिया और सोशल मीडिया पर वारयल कर दिया। दलित दिव्यांग ने थाने में तहरीर देकर तीन युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। लेकिन आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से फरार चल रहे है।

ये भी देखें :दूध के पैकेट से निकली मरी चुहिया, सोशल मीडिया पर मचा हंगामा

गंभीर रूप से घायल अनिल अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा था और अपने लिए दो टाइम की रोटी के लिए काम कर रहा था। शायद यही बात दबंगो को बुरी लग रही थी। जिसको लेकर दबंगो ने एक षड्यंत्र रचा और दिव्यांग युवक पर चोरी का आरोप लगाते हुए उसको एक कमरे में बंद कर दिया। दिव्यांग के साथ एक दूसरे युवक को भी बंधक बनाया गया और रस्सी से टांग दिया गया। फिर दोनों के मुँह में कपड़ा ठूंसकर दोनो के साथ लाठी डंडो से जमकर पिटाई की गई। इतना ही नही दबंगो ने दिव्यांग दलित युवक को लाठी डंडो से इस कदर पीटा की उसका पेशाब तक पेंट में निकल गया।

दिव्यांग दलित युवक रहम की भीख मांगता रहा लेकिन किसी ने भी उसकी एक ना सुनी और कई घंटों तक दिव्यांग को बंधक बनाकर जमकर पीटा। जब ग्रामीणों को इस बात का पता चला तो ग्रामीणों ने दिव्यांग दलित को बंधक मुक्त कराया।

बता दे कि देवली गांव निवासी एक युवती का घर से कुछ दिन पहले पर्स चोरी हो गया था। इसी शक में उसके रिश्ते के भाई व थाना क्षेत्र के गांव ढाना निवासी कपिल ने इस घटना को अंजाम दिया। आरोपी ने अपने साथी भरत एवं नूतन के साथ मिलकर तालिबानी फरमान सुनाते हुए दोनों के हाथ रस्सी से बांध कर छत से लटका दिया और पिटाई कर दी। चीख निकलने पर उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया गया। दिव्यांग पीड़ित अनिल द्वारा शोर मचाए जाने पर उसके बाएं हाथ का अंगूठा भी काट दिया। देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंचा तो परिजन ने पुलिस को उसके अपहरण की सूचना दी। पीड़ित के परिजन ने ढाना गांव पहुंच कर आरोपित से उसके संबंध में जानकारी करनी चाही और उसके मकान का दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया। लेकिन उन्हें इसमें सफलता नहीं मिल पाई। इस बीच मौके पर जुटे ग्रामीणों ने किसी तरह कपिल के मकान का दरवाजा खुलवाया तो अनिल एवं रोहित वहां बंधक बने मिले। उन्होंने दोनों पीड़ितों को बंधनमुक्त कराया। इस बीच तीनों आरोपित मौके से फरार हो गए। घायल अनिल को परिजन द्वारा अस्पताल में भर्ती कराया गया है ।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story