Top

ठगों ने खुद को बताया आर्मी अधिकारी, महंगे फोन को आधे दामों पर लगे बेंचने

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 20 Aug 2018 3:21 PM GMT

ठगों ने खुद को बताया आर्मी अधिकारी, महंगे फोन को आधे दामों पर लगे बेंचने
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: ओएलएक्स पर सस्ते में स्मार्ट फोन खरीदने की सोच रहे हैं तो आपको सावधानी बरतने की जरूरत है। दरअसल, आजकल कुछ जालसाज खुद को आर्मी अधिकारी बताकर महंगे फोन को आधी से कम कीमत में बेचने का लालच दे रहे हैं। ग्राहकों का भरोसा जीतने के लिए जालसाज वॉट्सएप पर चैट करते हैं और फेसबुक से किसी आर्मी अधिकारी की फोटो को चोरी कर उसे बतौर डीपी की जगह लगा देते हैं। ऐसे में आर्मी अधिकारी से फोन खरीदने को देखते हुए आसानी से लोग झांसे में आकर ठगी का शिकार बन रहे हैं।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा में पिछले 2 हफ्ते में ही 10 से ज्यादा लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा चुका है। सोमवार को ग्रेटर नोएडा के एक इंजीनियरिंग के छात्र से भी इसी तरह से ठगी की गई। पीड़ित छात्र ने नोएडा साइबर सेल में इसकी शिकायत की है।

40 हजार के फोन को 8 हजार में देने को हुआ तैयार

ठगी के शिकार हुए छात्र मनीष अग्रवाल ने बताया कि दो दिन पहले उसने ओएलएक्स पर एक स्मार्टफोन देखा था। 4 महीने पुराने इस फोन की मार्केट कीमत 40 हजार रुपए है मगर ओएलएक्स पर उसे 20 हजार रुपए में बेचने का ऑफर दिया था। इस फोन को बेचने वाले शख्स ने खुद को वेस्ट बंगाल का रहने वाला आर्मी अधिकारी बताया। छात्र ने जब उससे बात की तब वह महज 8 हजार रुपए में फोन देने को तैयार हो गया। इसलिए लालच में छात्र हो गया।

ठगों ने छात्र से पहले 840 रुपए लिए। स्मार्टफोन की कीमत 8 हजार रुपए में बात तय होने के बाद छात्र और जालसाज के बीच व्‍हाट्सएप पर चैट होने लगी। चैट के दौरान जालसाज ने डीपी में आर्मी अधिकारी की फोटो लगाई हुई थी। जालसाज ने बताया कि वह दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर भी तैनात रह चुका है। वह नया आईफोन लेना चाहता है। इसलिए सस्ते में फोन बेच रहा है।

पैसे ऐंठने के बाद नहीं दी डिलीवरी

छात्र के लालच में आते ही जालसाज ने फोन को कोरियर से भेजने के नाम पर सिक्योरिटी के तौर पर पहले 840 रुपए का पेटीएम करा लिया। इसके बाद कहा कि सोमवार सुबह तक फोन मिल जाएगा। सोमवार सुबह जालसाज ने खुद ही फोन कर कहा कि उसे एक घंटे बाद कोरियर मिल जाएगा लेकिन उससे पहले मोबाइल की कीमत का 50 फीसदी देना होगा। छात्र ने 4000 रुपए उसे पेटीएम कर दिया तो मगर कई घंटे बाद भी कोई मोबाइल फोन उसे नहीं मिला। इसके बाद दूसरे नंबर से छात्र के पास फोन आया और बोला कि वह कोरियर लेकर आ रहा है मगर आर्मी अधिकारी को पूरी पेमेंट करने के बाद ही वह फोन देगा। छात्र ने बचे हुए रुपए दे दिए तो भी उसे फोन नहीं मिला। तब पुलिस से शिकायत की।

राजस्थान के भरतपुर से हो रही जालसाजी

साइबर सेल में इसकी शिकायत मिलने के बाद वहां तैनात एक अधिकारी ने बताया कि पिछले दो हफ्ते में कई ऐसे मामले आ चुके हैं। सभी मामलों में राजस्थान के मोबाइल नंबर से ठगी की गई। जालसाज फेसबुक से किसी आर्मी अधिकारी की फोटो का स्क्रीन शॉट लेकर उसी के नाम से वॉट्सएप पर डीपी लगा देते हैं। जिससे लोग आर्मी के नाम पर जालसाज पर भरोसा कर लेते हैं। इस तरह जालसाज के झांसे में आकर लोग पैसे भी आसानी से पेटीएम या ऑनलाइन ट्रांसफर कर देते हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story