Top

बागपत के कुख्यात परमवीर ने रची थी इस जेल में बवाल की साजिश, ढ़ाई लाख का रह चुका है ईनामी  

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 18 Aug 2018 12:57 PM GMT

बागपत के कुख्यात परमवीर ने रची थी इस जेल में बवाल की साजिश, ढ़ाई लाख का रह चुका है ईनामी  
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजीपुर: जिला जेल में बीते बुधवार की शाम हुए बवाल को लेकर जेल प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। इस मामले में एसपी के आदेश पर जेल अधीक्षक ने 16 बंदियों के खिलाफ नामजद और 100 अज्ञात पर पथराव, आगजनी और तोड़फोड़ से संबंधित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस सूत्रों की माने तो बीते बुधवार को हुए बवाल में परमवीर की ही अहम भूमिका थी। बागपत का रहने वाला परमवीर सिंह ढाई लाख का इनामी है। वह इससे पहले बलिया जेल में बंद था। मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद से ही लगातार उत्पात मचाने के चलते उसे एक माह पूर्व बलिया से गाज़ीपुर जेल शिफ्ट किया गया था।

तन्हाई में भेजे गए 4 बंदी

जिला जेल की सुरक्षा को देखते हुए जिला अधीक्षक ने चार बंदियों को तन्हाई में डाल दिया है। इसमें बागपत का कुख्यात परमवीर सिंह और गाजीपुर का विकास खरवार शामिल है। जेल सूत्रों के मुताबिक इन्हीं दोनों बंदियों ने जेल में दूसरे बंदियों को उकसाने का काम किया था। सीसीटीवी का विरोध करते हुए बंदियों ने जमकर तोड़फोड़ की थी। बंदियों की कोशिश है कि उत्पात और तोड़फोड़ के जरिए जेल में अपनी बादशाहत कायम की जाए और जेल प्रशासन पर दबाव डाला जाए। सूत्रों के मुताबिक मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद जेल प्रशासन ने परमवीर पर निगरानी बढ़ा दी थी। उसके बैरक की तलाशी के साथ ही बंदी रक्षकों को अलर्ट कर दिया गया था। यही बात उसे नागवार गुजर रही थी।

बंदियों ने मचाया था उत्पात

बीते बुधवार को जिला जेल में बैरकों में सघन चेकिंग अभियान और जेल के संवेदनशील हिस्सों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने के विरोध में बंदियों जेल के अंदर जमकर उत्पात मचाया थ। इतना ही नहीं बंदियों द्वारा जेल में पथराव, आगजनी और तोड़फोड़ भी की गई। हालात इस कदर बिगड़े की पुलिस कैदियों के सामने बेबस नजर आई। हालत उस वक्त ज्यादा बिगड़ गए जब बंदियों ने जेल प्रशासन के दो कर्मियों और सीसी टीवी कैमरा लगाने वाले एक शख्स को बंदी बना लिया था।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story