Top

'पूत' बना 'कपूत': जमीन के लालच में बेटे ने मां पर किया नल के हैंडल से वार, उतारा मौत के घाट

बक्खाखेड़ा में एक लालची बेटे ने जमीन के लिए अपनी मां की हत्या कर दी और उसके शव को मोहनलालगंज तहसील के पीछे फेंक दिया।

Network

NetworkNewstrack NetworkChitra SinghPublished By Chitra Singh

Published on 29 May 2021 1:11 PM GMT

murder in mohanlalganj
X

कातिल गिरफ्तार

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: मोहनलालगंज के बक्खाखेड़ा में एक लालची बेटे ने जमीन के लिए अपनी बुजुर्ग मां को मौत के घाट उतार दिया और शव को मोहनलालगंज तहसील के पीछे फेंक दिया। जब पुलिस को शव के बारे में सूचना मिली तो वह तुरंत जांच में जुट गई। मोहनलालगंज पुलिस की तत्पर्ता से महिला की हत्या का खुलासा दो घंटे के अंदर ही हो गया और आरोपी को नहर के पास के जंगल से गिरफ्तार किया गया।

जानकारी के मुताबिक, मृतक की शिनाख्त बक्खाखेड़ा निवासी महाराजा के रूप में किया गया है। बताया जा रहा है कि बुजुर्ग महिला के इकलौते बेटे सियाराम ने साढे तीन बिस्वा जमीन के लिए बेरहमी से हत्या कर शव को मोहनलालगंज तहसील के पीछे हत्या कर सड़क किनारे फेंक दिया था।

मिली जानकारी के अनुसार, सियाराम ने घर के बाहर लगे लोहे के नल के हैंडल से अपनी मां पर वार किया और उसे मौत के घाट उतार दिया। फिर ठेलिया से शव को एक किलोमीटर दूर ले जाकर सड़क किनार फेक कर बोरियों से ढककर दिया और वहां से फरार हो गया है। वहीं मोहनलालगंज पुलिस को इसके बारे में सूचना मिली। जांच करते हुए पुलिस जब बुजुर्ग महिला के घर पहुंची और वहां देखा कि दरवाजे पर खून, टूटी चूड़ियों व उखाड़े गये बाल पड़े हुए हैं और मौके से बेटा फरार है।

पुलिस ने तत्पर्ता दिखाते हुए मामले का खुलासा दो घंटे के अंदर कर दिया। पुलिस के मुताबिक, शव मिलने के दो घंटे के अंदर पुलिस ने कातिल बेटे सियाराम को गांव के बाहर नहर किनारे जगंल से गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि आरोपी सियाराम ने बीस साल पहले भी पड़ोसी की कुल्हाड़ी से वार करके हत्या कर दी थी। इसके लिए उसे जेल भी भेजा गया था। बता दें कि इस मामले का खुलासा एसीपी दिलीप कुमार सिंह के नेतृत्व में अतिरिक्त प्रभारी निरीक्षक औरगंजेब खान व एसएसआई रमेश चन्द्र की तत्पर्ता से सफल हुआ है।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story