Top

यूपी के हरदोई में पूर्व पालिकाध्यक्ष की गुंडई आई सामने, दुकान में तोड़फोड़

हरदोई के सांडी नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष दिनेश चंद्र गुप्ता व उनके भाई की दबंगई का मामला सामने आया है। दोनों ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर एक नाई की दुकान में जमकर हंगामा किया और तोडफ़ोड़ कर सामान सड़क पर फेंक दिया जिससे आसपास के लोगों में दहशत फैल गई।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Jan 2019 4:18 PM GMT

यूपी के हरदोई में पूर्व पालिकाध्यक्ष की गुंडई आई सामने, दुकान में तोड़फोड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हरदोई : हरदोई के सांडी नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष दिनेश चंद्र गुप्ता व उनके भाई की दबंगई का मामला सामने आया है। दोनों ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर एक नाई की दुकान में जमकर हंगामा किया और तोडफ़ोड़ कर सामान सड़क पर फेंक दिया जिससे आसपास के लोगों में दहशत फैल गई। इस मामले में एएसपी के आदेश पर दोनों भाइयों समेत नौ नामजद तथा सात-आठ अज्ञात के खिलाफ दुकान में तोड़फोड़ का मामला दर्ज कराया गया है। चश्मदीदों ने गुंडई का वीडियो बना उसे वायरल कर दिया है।

आपको बता दें, सांडी कस्बे के मुहल्ला सराय मुल्लागंज निवासी रमेश चंद्र सविता ने बताया कि सदर बाजार मुहल्ला नवाबगंज में उसकी किराए की दुकान है। इस दुकान के मालिक विनोद कुमार गुप्ता हैं। रमेश का आरोप है कि ओम प्रकाश शर्मा, दिनेश गुप्ता पूर्व चेयर मैन नगर पालिका उनके भाई उमेश गुप्ता, अनिल गुप्ता तथा कादिर खान, राजा बाबू, बंटू बाजपेई, पुनीत बाजपेई और उनके साथ सात- आठ लोग उनकी दुकान पर आए और हंगामा करने लगे जब उन्होंने समझाने का प्रयास किया तो दुकान में तोड़फोड़ कर सामान सड़क पर फेंक दिया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story