Top

योगी जी ! यहां तो भूमाफिया दे रहे आपको चैलेंज, 3 दर्जन से ज्‍यादा बेघर

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 3 July 2018 10:58 AM GMT

योगी जी ! यहां तो भूमाफिया दे रहे आपको चैलेंज, 3 दर्जन से ज्‍यादा बेघर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हापुड़: योगी सरकार बनने के बाद सरकार द्वारा एंटी भू माफिया स्क्वायड का गठन किया गया था। इसका मकसद अवैध रूप से कब्जा की गई भूमियों को भूमाफियाओं से छुड़ाना था, लेकिन जनपद हापुड़ में भूमाफिया इस कदर सक्रिय हैं कि खुलेआम प्रशासन की नाक के नीचे रातों रात जमीनों को कब्जा करने का खेल खेला जा रहा है। जिस पर न प्रशासनिक स्तर पर अब तक कोई कार्रवाई हुई है और ना ही स्थानीय पुलिस इस पर कोई लगाम लगाने के लिए तैयार हैं। ये भूमाफिया खुलेआम योगी सरकार को चैलेंज देते नजर आ रहे हैं। बता दें, एलएमसी की जमीन को दस्तावेजों में फेरबदल कर कई साल पहले भूमाफियाओं के नाम किया गया था। अब भू-माफिया एलएमसी की जमीन पर अपना कब्जा जमाने के साथ अगल-बगल की जमीनों को भी हथिया रहे हैं।

रात में होता है कब्‍जे का काम

स्‍थानीय लोगों ने बताया कि सिटी कोतवाली इलाके के फ्रीगंज रोड की जमीनों पर भूमाफियाओं की नजर है। शाम ढलते ही रात के 12:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक भूमाफियाओं द्वारा हापुड़ कोतवाली क्षेत्र की फ्रीगंज और रेलवे रोड के पास स्थित आवास विकास रेलवे पूल से लगी भूमि पर अवैध कब्जा किया जा रहा है। जिस पर बड़े बड़े डम्पर से मिट्टी डालकर जमीन का भराव का काम किया जा रहा है । 30 जून की रात भी इन भूमाफियाओं द्वारा दर्जनों परिवारों को बल पूर्वक बेघर कर दिया गया था।

पीड़ितों की माने तो हापुड निराश्रय सेवा समिति के अंतर्गत इस भूमि को 1992 में लोगों को दान में दिया गया था। इसके पट्टे भी यहां के लोगों को किए गए थे। इसके बाद से यह लोग इस समिति के तहत यहां झुग्गियां बनाकर रह रहे हैं। क्षेत्र में करीब 350 झुग्गियां है, जिनमें ये गरीब लोग कई दशकों से रहते आ रहे है। इस भूमि पर पहले से ही भूमाफियाओं की नजर रही है, जिसके चलते पहले भी इस भूमि पर कब्जे करने के कई प्रयास किये जा चुके है, लेकिन हर बार इन लोगों के विरोध के चलते भूमाफियाओं को अपने कदम पीछे खींचने पड़े, लेकिन बीते 45 दिनों में भूमाफिया इस कदर क्रूरता के साथ इस जमीन को कब्जा करने में जुटे हैं, जिस पर पुलिस भी आंख मूंदे हुए हैं।

ये भी देखें: कुशीनगर: भारी बारिश से लोगों में दहशत, इस इलाके में पलायन की आशंका

डंपरों से होता है पटान, पुलिस नदारद

यहां पर आधी रात को डंपरों से मिट्टी डालकर भूमि का भराव किया जा रहा है। यह मिट्टी भी अवैध रूप से खनन करके लाई जा रही है। फ्रीगंज रोड पर बड़े वाहनों को आने से रोकने के लिए रेलवे द्वारा लोहे के छोटे खम्बे सड़क के बीच मे लगाये गये थे । इसके चलते मिट्टी के डम्पर इस सड़क पर नहीं आ रहे थे। उन लोहे के छोटे खम्भों को भी इन भू माफियाओं ने सड़क से हटा दिया। इन भू-माफियाओं द्वारा बीते 1 सप्ताह में 46 झुग्गियों को तबाह कर दिया गया। जिनमें रह रहे करीब 350 लोग बेघर हो गये| झुग्गियों से हटाने के लिए इन लोगों ने करीब 4 दिन पहले एक झुग्गी को आग के हवाले कर दिया, जिससे वहां के लोगों में अफरा-तफरी मच गई।

मामले की शिकायत पुलिस पर भी की गई, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की गई। 29 जून को मिट्टी से भरे एक बेकाबू डंपर ने इस बस्ती के कई स्थानों पर टक्कर मार दी, जिनमे कुष्ठ रोगियों के लिए बना आश्रम, वहां स्थित मंदिर व अनेक घरों आदि में लगे बिजली के तार टूट गये। जिसपर भी मौके पर पहुची पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। इसके चलते इन भू माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हैं कि अब वे इन लोगों को मिट्टी के ढेर के नीचे दबाने के लिए ही आमदा है।

इस मामले में एडीएम जयनाथ यादव का कहना है कि मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। एसडीएम हापुड़ को मौके पर भेजा जा रहा है। आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

ये भी देखें: सपा कार्यकर्ताओं ने महंगाई और लॉ एंड आर्डर पर किया सवाल, बदले में जमकर चली लाठियां

sudhanshu

sudhanshu

Next Story