Top

बवाली वकील दीप्ति चौधरी जमानत पर रिहा, बार एसोसिएशन ने रद की सदस्यता

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 25 Oct 2018 2:23 PM GMT

बवाली वकील दीप्ति चौधरी जमानत पर रिहा, बार एसोसिएशन ने रद की सदस्यता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ : उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में पिछले दिनों होटल ब्लैक पेपर में दरोगा से मारपीट के मामले से चर्चा में आई महिला अधिवक्ता दीप्ति चौधरी की सदस्यता जिला बार एसोसिएशन ने रद कर दी है। इसी बीच दीप्ति को आज दोपहर कोर्ट में पेश किया गया। जहां पर एसीजीएम-पंचम की कोर्ट ने 20 हजार रुपया की जमानत कर रिहा कर दिया।

ये भी पढ़ें…अगर पार्टनर सेक्स में नहीं कर पाता संतुष्ट तो आजमाएं ये आसान टिप्स

ये भी पढ़ें…सेक्स ड्राइव का लेना चाहते है भरपूर मजा तो खाएं ये चीजें

ये भी पढ़ें…काम की बात: पीरियड्स में सेक्स करना सही है या गलत!

एसपी सिटी रणविजय सिंह के अनुसार मेरठ में कल महिला अधिवक्ता दीप्ति चौधरी को थाना में हाईवोल्टेज तथा ड्रंक एंड ड्राइव के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आज पुलिस ने दीप्ति चौधरी को कोर्ट में पेश किया गया,जहां पर एसीजीएम-पंचम की कोर्ट ने 20 हजार रुपया की जमानत कर रिहा कर दिया।

बता दें कि कल देर शाम एसएसपी ऑफिस से लेकर कैंट स्थित सीडीए ऑफिस तक एक कार और दो बाइक में टक्कर मारने वाली महिला अधिवक्ता दीप्ति चौधरी ने शराब के नशे में लालकुर्ती थाने में भी खूब हंगामा किया था। जिसके बाद उसके खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हुए थे। इसी मामले में दीप्ति को आज कोर्ट में पेश किया गया था।

उधर, विवादों में घिरी दीप्ति चौधरी को जिला बार एसोसिएशन ने आज निलंबित कर दिया है। जिला बार एसोसिएशन की हुई एक बैठक में महिला अधिवक्ता की सदस्यता रद करने का निर्णय लिया गया। जिला बार एसोसिएशन के महामंत्री प्रवीण कुमार सुधार ने बताया कि महिला की पहले भी कई बार शिकायत मिल चुकी थी। इस बार की शिकायत माफ करने लायक नहीं है इसलिए उनकी सदस्यता रद की गई है।

वहीं महिला मेरठ बार एसोसिएशन की तरफ से आज एक कमेटी गठित की गई है। कमेटी ही तय करेगी कि मेरठ बार एसोसिएशन की सदस्यता दीप्ति चौधरी के पास रहेगी या नहीं।

गौरतलब है कि महिला अधिवक्ता और दरोगा ने भाजपा पार्षद मनीष चौधरी के रेस्टोरेंट में भी हंगामा किया था जिसके बाद मनीष चौधरी ने दरोगा को पीटा और दरोगा ने मनीष चौधरी को। अधिवक्ता दीप्ति चौधरी और उनके साथी दरोगा सुखपाल सिंह के साथ मारपीट के मामले में पुलिस ने बीते दिनों भाजपा पार्षद मनीष चौधरी को गिरफ्तार करके जेल भेजा था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story