Top

मेरठ : गवाह मां-बेटे की गोलियों से भूनकर हत्या, CCTV में कैद वारदात

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 24 Jan 2018 4:11 PM GMT

मेरठ : गवाह मां-बेटे की गोलियों से भूनकर हत्या, CCTV में कैद वारदात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ : यूपी के मेरठ में पति की हत्या में गवाह एक महिला और उसके बेटे की दिन-दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। हत्या के बाद पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। बताया जा रहा है कि गुरूवार को हत्या के मामले में मां-बेटे की कोर्ट में गवाही थी। आरोपियों ने गवाही से पहले दोनों की हत्या का ऐलान किया था। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।

ये भी देखें : वाराणसी में डीरेका कर्मचारी की गोली मारकर हत्या, जांच जारी

क्या है पूरा मामला

परतापुर थाना क्षेत्र के सोरखा निवासी नरेंद्र की अक्टूबर 2016 में जमीनी रंजिश के चलते हत्या कर दी गई थी। मामले में गांव के रहने वाले मृतक के भतीजों मालू उर्फ श्योबीर व उसके भाई मांगे समेत अन्य लोगों को नामजद कराया था। मृतक के परिजनों ने मामले में मुकदमा दर्ज कराया था।

मालू को पुलिस ने जेल भेज दिया था। वहीं मांगे समेत अन्य आरोपी फरार है। बताया जा रहा है कि नरेंद्र की हत्या के मामले में उसकी पत्नी निछत्तर कौर और बेटा बलविंद्र उर्फ भोलू गवाह थे।

गुरूवार को उनकी कोर्ट में गवाही होनी थी। आरोप है कि फरार चल रहे आरोपियों ने गवाही देने के चलते दोनों की हत्या का ऐलान किया था।

गोलियां बरसाकर हत्या

बुधवार को निछत्तर कौर घर के बाहर बैठी हुई थी। इस दौरान आरोपियों ने गोलियां बरसाकर उसकी हत्या कर दी। वहीं बलविंद्र को कार से जाते वक्त गांव के रास्ते में गोलियों से भून दिया। उसके बाद आरोपी फरार हो गए।

सूचना के बाद सीओ ब्रहमपुरी अखिलेश भदौरिया और एसओ परतापुर रघुराज सिंह मौके पर पहुंचे। वहीं एसएसपी मंजिल सैनी और एसपी सिटी मान सिंह चौहान भारी पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे।

पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पूरी घटना सीसीटीवी कैमरें में कैद हो गई। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

वहीं इस मामले में इंस्पेक्टर प्रतापपुर समेत 5 पुलिसकर्मी निलंबित हुए हैं। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बताया इस मामले में लापरवाही के चलते कार्यवाही की गई है। एक आरोपी भी गिरफ्तार हुआ है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story