Top

पतंजलि के एमडी के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाकर लड़कियों को किया टारगेट, पुलिस ने दबोचा

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 11 Aug 2018 2:17 PM GMT

पतंजलि के एमडी के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाकर लड़कियों को किया टारगेट, पुलिस ने दबोचा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: पतंजलि के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्ण के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लड़कियों को फंसाने वाले आरोपी को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने फेसबुक पर बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। पुलिस ने आरोपी को अरेस्‍ट करके न्‍यायालय में पेश किया। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

आचार्य बालकृष्‍ण के नाम से थी आईडी

एसएचओ मनीष सक्सेना ने बताया कि आरोपी ने आचार्य बालकृष्ण के नाम और फोटो के साथ फर्जी फेसबुक अकाउंट बना रखा था। इस अकाउंट से बड़ी संख्या में बाब रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के आनुयायी जुड़े हुए थे। आरोपी उनके आनुयायियों से चैट कर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करता था। विरोध करने पर अनुयायियों के साथ गाली-गलौज करता था। आचार्य बालकृष्ण और धार्मिक टिप्पणी करने से लोगों की भावनाओं को को ठेस पहुंच रही थी। इसको लेकर 4 जुलाई को सेक्टर-5 स्थित वैदिक ब्राडकास्टिंग लिमिटेड के सीईओ प्रमोद जोशी ने थाना सेक्टर-20 में शिकयत दी थी। पुलिस ने पीडित की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

शनिवार को पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर सेक्टर-10 से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान मौहम्मद जिशान निवासी चिकलाना जिला सहारनुपर के रूप में हुई है।

लड़कियां फंसाने के लिए बनाई आईडी

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने यह फेसबुक आईडी लड़कियों को फंसाने के लिए बनाई थी। वह खुद को आचार्य बालकृष्ण बताते हुए लड़कियों को पतंजलि में नौकरी दिलाने और पतंजलि के अधिकारियों के साथ संबंध बनाने के बदले में मोटी रकम दिलाने का लालच देता था। आरोपी लड़कियों से फीस के तौर पर अपने बैंक खाते में रकम जमा करा लेता था। ठगी करने के बाद आरोपी पीड़ित लड़कियों के अकाउंट को अपने खाते से रद्द कर देता था। आरोपी ने अब तक एक दर्जन से अधिक लड़कियों को फंसाकर उनके साथ ठगी करने की वारदातों को कुबूल किया है। आरोपी पुलिस से बचने के लिए बार-बार अपना ठिकाना बदल रहा था।

अनुयायियों में था आक्रोश

आरोपी द्वारा आचार्य बालकृष्ण और बाबा रामदेव पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर उनके अनुयायियों में भारी रोष था। इसकी शिकायत अनुयायियों ने बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण से की थी। इसके बाद पुलिस पर आरोपी को पकड़ने के लिए काफी दबाव था।

पतंजलि के प्रवक्‍ता एस के तिजारा ने कहा कि किसी को जानबूझकर बदनाम करना ठीक नहीं है। इस साजिश के पीछे जो लोग हैं, वह भी पकड़े जाने चाहिए। हम आरोपी को पकड़ने के लिए नोएडा पुलिस को धन्यवाद देते हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story